DA Image
28 फरवरी, 2020|11:24|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवीं क्लास का छात्र चार दिन से लापता, परिजनों का हंगामा

नवीं क्लास का छात्र चार दिन से लापता, परिजनों का हंगामा

घर से स्कूल गया कक्षा नौ का छात्र चार दिन से लापता है। इस परिजनों के धैर्य टूट गया और ग्रामीणों के साथ शुक्रवार को स्कूल के बाहर हंगामा शुरू कर दिया। परिजन स्कूल प्रबंधन पर बच्चे के लापता होने में लापरवाही का आरोप लगाया। परिजनों का आरोप है कि छात्र स्कूल वैन से आता-जाता था। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझाया तो परिजन दो दिन की मौहलत देकर वापस लौट गये। दो दिन के बाद स्कूल के बाहर अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी गई है। नखासा थाना इलाके के मन्नीखेड़ा गांव निवासी रामानन्द का 19 साल का इकलौता बेटा तनुज पाल रम्पुरा जट के गोया वर्ल्ड स्कूल में कक्षा नौ का छात्र है। तनुज 21 जनवरी को तनुज स्कूल आया, लेकिन फिर वापस लौटकर घर नहीं पहुंचा। परिजनों ने स्कूल आकर जानकारी ली तो वहां से भी कुछ पता नहीं चल पाया। स्कूल प्रबंधन ने छात्र के पिता को साथ ले जाकर सैदनगली थाने में उसकी गुमशुदगी यह कहते हुए दर्ज करा दी कि छात्र को आखिरी बार सैदनगली में देखा गया था। परिजन तीन दिन तक तनुज को तलाशते रहे, लेकिन जब पता नहीं चला तो शुक्रवार को परिजनों के साथ ही गांव के दो दर्जन से ज्यादा लोग इकटठा होकर स्कूल पर पहुंच गये। ग्रामीणों को देख स्कूल प्रबंधन ने स्कूल का मुख्य गेट बंद करा दिया। इसके बाद परिजनों ने स्कूल गेट के बाहर हंगामा शुरू कर दिया। लापता छात्र के पिता ने कहा कि स्कूल के प्रधानाचार्य उसे सैदनगली थाने पर ले गये और वहां एक कागज पर उससे हस्ताक्षर कराकर पुलिस को दे दिये। उसे यह भी नहीं पता कि उस कागज पर क्या लिखा था। पिता रामानन्द का कहना था कि जब उसका बेटा स्कूल से गायब हुआ तो स्कूल वालों को उसे सूचना देनी चाहिए थी, लेकिन शाम तक भी स्कूल वालों ने कुछ नहीं बताया बल्कि वह खुद अपने बेटे को ढ़ूंढ़ते हुए स्कूल आया तो उसे ठीक से जवाब भी नहीं दिया।

हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस

संभल। रम्पुरा जट के गोया वर्ल्ड स्कूल पर हंगामे की सूचना मिलने के बाद डायल 112 के साथ ही नखासा थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची। नखासा के एसएसआई राकेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से जानकारी ली। परिजनों ने एसएसआई से भी बच्चे के लापता होने के लिए स्कूल प्रबंधन को ही दोषी ठहराया। परिजनों के बुलावे पर भाकियू नेता चौधरी वीरेंद्र सिंह भी मौके पर पहुंच गये और उन्होंने भी छात्र के परिवार से हमदर्दी जताते हुए बच्चे का पता लगाये जाने की मांग रखी। कहा कि वह परिवार के साथ हैं। दो दिन का अल्टीमेटम, शुरू होगा आन्दोलनसंभल। पुलिस के समझाने के बाद छात्र के परिजन और ग्रामीण शांत हो गये, लेकिन यह ऐलान भी कर दिया कि पुलिस और स्कूल प्रबंधन दो दिन में उनके बच्चे का पता लगाये। बच्चे का पता नहीं लग पाया तो वह दो दिन बाद स्कूल के बाहर आमरण अनशन शुरू कर देंगे। परिजनों ने अपनी इस चेतावनी को लेकर पुलिस को लिखित पत्र भी दे दिया। इस दौरान छात्र के पिता रामानन्द के साथ ही उसकी मां चन्द्रवती, सोमवती शर्मा और मनोज सहित दो दर्जन से ज्यादा लोग मौजूद थे।.

वर्जन

छात्र के लापता होने की जानकारी मिलने के बाद से ही हम लोग उसका पता लगाने के लिए परिवार के साथ मिलकर पूरा प्रयास कर रहे हैं। जिस दिन छात्र लापता हुआ उसे सैदनगली में पुलिस चेकपोस्ट के पास देखा गया था। इसी वजह से सैदनगली थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। हमारी पूरी हमदर्दी परिवार के साथ है और हम खुद अपने स्तर से लगातार प्रयास कर रहे हैं। परिजनों का स्कूल पर किसी भी तरह का आरोप लगाना गलत है।

आकाश गर्ग, प्रबंधक गोया वर्ल्ड स्कूल

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ninth class student missing for four days family uproar