Mountaineer Gyan Nandini injured during Leh-Ladakh mission - लेह-लद्दाख मिशन के दौरान पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी घायल, अस्पताल में भर्ती DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लेह-लद्दाख मिशन के दौरान पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी घायल, अस्पताल में भर्ती

लेह-लद्दाख मिशन के दौरान पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी घायल, अस्पताल में भर्ती

लेह लद्दाख की 21 हजार फीट ऊंची चोटी पर फतह हासिल करने के लिए मिशन पर निकली पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी आखिरी कैंप के दौरान घायल हो गई। हादसा पत्थर से पैर फिसलने पर हुआ। नंदिनी को उसकी टीम के लोग जैसे-तैसे करके लेह के सरकारी अस्पताल ले गए। अस्पताल में नंदिनी का इलाज चल रहा है। घायल होने के कारण उन्हें अपना मिशन कैंसिल करना पड़ा।

क्षेत्र के फरीदपुर गांव निवासी नंदकिशोरी की पुत्री पर्वतारोही ज्ञान नंदिनी अफ्रीका की किलोमंजारो व यूरोप की एलब्रुज चोटी समेत कई चोटियों पर फतह हासिल कर चुकी हैं। इस बार उन्हें लेह लद्दाख की सबसे ऊंची चोटी कांगयातसे-वन, जिसकी ऊंचाई 21120 फीट है और कांगयातसे-टू जिसकी ऊंचाई 20510 फीट है। सात दिन में फतेह हासिल करके विश्व रिकार्ड बनाना था। इन चोटियों पर फतह हासिल करने के लिए पर्वतारोही 29 जुलाई को रवाना हुई थीं। चार अगस्त को पर्वतारोही व उनकी टीम आखिरी कैंप करने के लिए जा रही थी। तभी रास्ते में पत्थर से पैर फिसल जाने पर वह हादसे का शिकार हो गई और घायल हो गईं। उनकी कमर व उल्टे पैर में चोट आई है। बात होने पर ज्ञान नंदिनी ने बताया कि आखिरी कैंप करने के लिए जिस रास्ते से जाना था। उस रास्ते से पत्थर गिर रहे थे, इसलिए टीम ने दूसरा रास्ता चुना। निवांगिल नामक स्थान पर वह हादसे का शिकार हो गईं। जिसके कारण मिशन बीच में ही रोकना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Mountaineer Gyan Nandini injured during Leh-Ladakh mission