ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश संभलपहल : कोरोना से जंग जीतने को एक सप्ताह को खुद बंद किया सर्राफा बाजार फोटो...7 से 12

पहल : कोरोना से जंग जीतने को एक सप्ताह को खुद बंद किया सर्राफा बाजार फोटो...7 से 12

संभल शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण और मौतों के आंकड़े को लेकर दहशत बढ़ रही है। संक्रमण की रोकथाम को लगे कोरोना कर्फ्यू के साथ ही साप्ताहिक बंदी का...

पहल : कोरोना से जंग जीतने को एक सप्ताह को खुद बंद किया सर्राफा बाजार फोटो...7 से 12
हिन्दुस्तान टीम,संभलWed, 28 Apr 2021 03:22 AM
ऐप पर पढ़ें

संभल शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण और मौतों के आंकड़े को लेकर दहशत बढ़ रही है। संक्रमण की रोकथाम को लगे कोरोना कर्फ्यू के साथ ही साप्ताहिक बंदी का पूर्ण पालन करने वाले सर्राफा कारोबारियों ने खुद पहल की है। वर्चुअल बैठक में कारोबारियों ने कोरोना की चेन तोड़ने और परिवार की सुरक्षा को एक सप्ताह तक प्रतिष्ठान बंद रखने का फैसला लिया। मंगलवार से ही सर्राफा बाजार बंद रखने के फैसले पर अमल हुआ। सर्राफा कारोबारियों के कदम से समाज को भी संदेश मिला।

कोरोना संक्रमण विकराल रूप ले चुका है। लोगों के जेहन में खौफ बढ़ता जा रहा है। व्यापारी वर्ग भी हालात को लेकर चिंतित है। कोरोना कर्फ्यू और साप्ताहिक बंदी का पूर्ण रूप से पालन करने के साथ ही अब व्यापारी कोरोना की चेन तोड़ने और परिवारों की सुरक्षा को लेकर गंभीर हुए हैं। हालात को लेकर सोमवार रात को सर्राफा कमेटी के अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल की अध्यक्षता में सर्राफा कारोबारियों की वर्चुअल बैठक हुई। कारोबारियों ने कोरोना संक्रमण से बिगड़ते हालात को लेकर चर्चा की। सुझाव दिया गया कि क्यों न परिवारों की सुरक्षा के साथ ही संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए प्रतिष्ठान बंद रखे जाएं। इस प्रस्ताव पर सभी कारोबारियों ने सहमति जता दी। अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि सर्राफा कारोबारियों और कमेटी के सदस्यों ने तय किया है कि सत्ताईस अप्रैल से तीन मई तक सभी अपने प्रतिष्ठान बंद रखेंगे। सर्राफा कारोबारियों के फैसले का असर पहले ही दिन यानी मंगलवार को सर्राफा बाजार में दिखाई दिया। सभी प्रतिष्ठान पूरी तरह से बंद रहे। हालांकि कुछ ग्राहक प्रतिष्ठानों पर पहुंचे लेकिन जब पता चला कि बाजार सात दिन के लिए बंद कर दिया गया है तो वापस लौट गए। बहरहाल, संकट के इस दौर में सर्राफा कारोबारियों की पहल को लेकर हर तरफ चर्चा का माहौल बन गया। समाज के लोगों ने भी कारोबारियों के इस कदम को सही ठहराया।

क्या बोले कारोबारी

.कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसलिए सभी को सुरक्षित रहने की जरूरत है। सर्राफा कारोबारियों से चर्चा करने के बाद तय किया गया कि तीन मई तक सभी अपने प्रतिष्ठान बंद रखेंगे। जिसका पूरी तरह से पालन किया जाएगा। समाज के लोग भी संक्रमण से बचाव के लिए सतर्क रहें। सरकार की जो गाइडलाइन है उसका पालन किया जाए। नरेंद्र अग्रवाल, अध्यक्ष सर्राफा कमेटी

.कोरोना महामारी से सुरक्षित रहने के लिए उत्तर प्रदेश सर्राफा एसोसिएशन ने सभी सर्राफा कमेटी से कोरोना कर्फ्यू और गाइडलाइन का पालन करने के लिए कहा है। वर्तमान में अस्पताल मरीजों से भरे पड़े हैं। ऐसे में खुद को सुरक्षित रखना बेहद जरूरी है। इसके लिए बाजार को एक सप्ताह के लिए बंद रखने का फैसला लिया गया है। रुपेश सर्राफ, महामंत्री सर्राफा कमेटी

.कोरोना महामारी विकराल रूप ले चुकी है। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कारोबारियों ने अहम फैसला लिया है। कारोबारियों को घरों पर रहकर ही इस महामारी से मुकाबला करना है। इसीलिए सोमवार तक सर्राफा बाजार बंद रखा जाएगा। समाज के लोगों से भी कहना है कि वह संक्रमण से बचाव के लिए नियमों का पालन करें। प्रभात सर्राफ, संगठन मंत्री सर्राफा कमेटी

.कोरोना संक्रमण के फैलने पर वर्तमान में जो हालात बने हैं, वह गंभीर है। जीवन बचाना मुश्किल हो रहा है। जीवन से बढ़कर कुछ भी नहीं है। इसीलिए सर्राफा कारोबारियों ने बाजार बंद रखने का निर्णय लिया है। संकट के इस दौर में जितना हो सके नियमों का पालन किया जाए। बचाव करके ही जीवन सुरक्षित रह सकता है। सचिन कुमार, सर्राफ

.कोरोना महामारी से हालात बिगड़ते जा रहे हैं। जिसके मद्देनजर सर्राफा कारोबारियों ने बाजार को बंद रखने का अहम फैसला लिया है। हमारा कहना है कि लोग भी जागरुक होकर सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के नियम का पालन करें। सर्राफा बाजार और अन्य इलाकों में नियमित सेनेटाइजेशन होना चाहिए। जिसकी निगरानी की जाए। सुमित रस्तोगी, सर्राफ