DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तुरैहा जाति का प्रमाणपत्र न मिलने पर आंदोलन की चेतावनी

संभल में निर्बल इंडियन शोषित हमारा आमदल निषाद पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजा गया। जिसमें तुरैहा जाति के प्रमाण पत्र न बनाये जाने समेत कई अन्य शिकायतों का समाधान करने की मांग की गई थी। पत्र में समाधान न होने पर धरना व भूख हड़ताल की चेतावनी भी दी गई है।

बुधवार को निषाद पार्टी के जिलाध्यक्ष अखिलेश कुमार कश्यप ने मुख्यमंत्री को एक शिकायती पत्र भेजा है। जिसमें कहा गया कि तुरैहा जाति का प्रमाण बनवाने के लिए आवेदन किया जाता है तो उसे राजस्व विभाग के कर्मचारी कहकर निरस्त कर देते है कि यह जाति यहां पर नहीं रहती। जबकि इस जाति के काफी संख्या में लोग जिले में रहते है और उनके प्रमाण पत्र भी बने हुए है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि तुरैहा जाति अनुसूचित जाति की श्रेणी में आती है और इस जाति के प्रमाण पत्र भी दिये गये है। इसके साथ ही पत्र में कहा कि प्रधान व सचिव मिलकर अपात्रों को पात्र बनाकर उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ दे रहे है। 14 सितंबर तक मांग पूरी न होने पर चार दिवसीय सांकेतिक धरने तथा इसके बाद भी समाधान न होने पर 19 सितंबर से जिलाधिकारी कार्यालय पर भूख हड़ताल की चेतावनी दी है। इस दौरान पत्र पर रामेश्वर भारती, जयवीर, प्रेमपाल, चरन सिंह, कैलाश, चंद्रपाल, महेशचंद्र समेत दर्जन भर से हस्ताक्षर थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:if not give tureha caste certificate then movement start