DA Image
4 दिसंबर, 2020|9:40|IST

अगली स्टोरी

दूध,मिठाई से लेकर सरसों तेल तक सब मिलावटी,19 कारोबारियों पर 61 लाख जुर्माना

default image

संभल। हिन्दुस्तान संवाद

अपर जिला मजिस्ट्रेट संभल की अदालत ने दूध, मिठाई, रिफाइंड व सरसों के तेल में मिलावट करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। मिलावटखोरी के आरोपी 19 लोगों पर 61 लाख रुपये का जुर्माना डाला गया है। जुर्माना जमा न करने पर आरसी काटकर तहसील के जरिए धनराशि वसूल करने की तैयारी है।

दीपावली से पहले खाद्य सुरक्षा विभाग ने अभियान चलाते हुए मिलावटी खाद्य पदार्थों की धरपकड़ के लिए बड़े पैमाने पर खाद्य पदार्थों के सैंपल लिये थे। इन सैंपल की जांच रिपोर्ट आई तो दूध से लेकर मिठाई और सरसों का तेल व रिफाइंड तक सब कुछ मिलावटी व नकली पाया गया। खाद्य सुरक्षा विभाग ने मिलावट खोरी के मामलों को लेकर अपर जिला मजिस्ट्रेट कमलेश कुमार अवस्थी की अदालत में वाद दायर किया था। मामलों की सुनवाई के बाद अपर जिलाधिकारी ने 19 मामलों का निस्तारण किया है। दूध,मिठाई,सरसों का तेल व रिफाईंड में मिलावट के इन मामलों में 61 लाख रुपये का जुर्माना मिलावट करने के आरोपियों पर लगाया गया है। दूध में मिलावट करने वालों पर जहां तीन से चार लाख तक का जुर्माना किया गया है। सरसों के तेल व मिठाई में मिलावट करने के आरोपियों पर भी तीन व चार लाख का जुर्माना लगाया गया है।

दूध से लेकर सरसों तेल व मिठाई तक सब मिलावटी

संभल। खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा लिये गये खाद्य पदार्थों के नमूनों की जांच का नतीजा सामने आने के साथ ही यह भी साफ हो गया है कि जनपद संभल में खाद्य पदार्थों में बड़े पैमाने पर मिलावट हो रही है। खाने पीने की चीजों के नाम पर लोगों को जहर परोसा जा रहा है। विभाग ने जो नमूने लेकर जांच को भेजे उनमें साठ प्रतिशत से भी ज्यादा में मिलावट की पुष्टि हुई है। जहां दूध में खतरनाक रसायन होने की पुष्टि जांच रिपोर्ट में की गई वहीं सरसों का तेल व रिफाइंड भी सेहत के लिए खतरनाक पाया गया। मिठाइयां भी खाने योग्य नहीं पाई गईं।

नकली रसगुल्लों की बड़ी मंडी है संभल

संभल। बाकी खाद्य पदार्थों में मिलावट के साथ ही संभल जनपद में बड़े पैमाने पर नली रसगुल्ले बनाकर बाहर शहरों तक भेजे जा रहे हैं। सस्ते के लालच में जहां शादी समारोहों में यह रसगुल्ले इस्तेमाल हो रहे हैं वहीं मिठाई दुकानदार भी यह नकली रसगुल्ले अपनी दुकानों पर रखकर बेच रहे हैं। संभल जनपद के आधा दर्जन गांव में नकली सफेद रसगुल्ले बनाने का धंधा संचालित हो रहा है।

किस पर कितना जुर्माना

राजपाल, कैमा-दूध का नमूना- तीन लाख जुर्माना

मौहम्मद नबी, मल्ली सराय-दूध का नमूना-तीन लाख जुर्माना

राजू यादव, निजामपुर-दूध का नमूना-चार लाख जुर्माना

विकुल देवल, मंढ़ावली-मिश्रित दूध का नमूना-तीन लाख जुर्माना

देव कुमार यादव, न्यौरा-मिश्रित दूध का नमूना-चार लाख जुर्माना

जीशान, नाहरठेर-मिश्रित दूध का नमूना-तीन लाख जुर्माना

शकील, हैबतपुर-मिश्रित दूध का नमूना-चार लाख जुर्माना

सुरेश, अकरोली-दूध का नमूना-चार लाख जुर्माना

चांद मिष्ठान भंडार नवादा-बर्फी का नमूना-चार लाख जुर्माना

मुनेश, पाठकपुर-रंगीन रसगुल्ले का नमूना-एक लाख जुर्माना

आयुष अग्रवाल चंदौसी-चावल का नमूना- दो लाख जुर्माना

मौहम्मद नजर, रसूलपुर धतरा-क्रीम का नमूना-तीन लाख जुर्माना

मशकूर बाजार गंज सरायतरीन-बर्फी का नमूना-चार लाख जुर्माना

अमित कुमार मौ.पुर टांडा-सरसों के तेल का नमूना-चार लाख जुर्माना

फिरासत अशरफपुर-रसगुल्ले का नमूना-तीन लाख जुर्माना

इमरान भालेभाज खां सरायतरीन-सरसों के तेल का नमूना-चार लाख जुर्माना

मोहम्मद रफी सेफनी जिला रामपुर-सरसों के तेल का नमूना-तीन लाख जुर्माना

जमील व गोयल इंटरप्राइजेज मुरादाबाद व कारगिल इंडिया कच्छ-रिफाइंड का नमूना-दो लाख जुर्माना

नन्हें सैंफनी जिला रामपुर-सरसों के तेल का नमूना-तीन लाख जुर्माना

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:From milk sweets to mustard oil all adulterated 19 businessmen fined 61 lakh