ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश संभलकर्मचारियों की मनमानी से बीज पाने को भटक रहे किसान फोटो...3,4,5

कर्मचारियों की मनमानी से बीज पाने को भटक रहे किसान फोटो...3,4,5

पंवासा कृषि प्रसार केंद्र पर तैनात कर्मचारी बारह बजे ही केंद्र पर लटका देते हैं ताले, रबी सीजन की फसल की बुआई के लिए बीज लेने पहुंच रहे किसानों को...

कर्मचारियों की मनमानी से बीज पाने को भटक रहे किसान फोटो...3,4,5
हिन्दुस्तान टीम,संभलSun, 01 Nov 2020 03:12 AM
ऐप पर पढ़ें

सरकार किसानों को अनुदान पर बीज मुहैया करा रही है लेकिन जिले के कृषि प्रसार केंद्रों पर तैनात कर्मचारियों की मनमानी के कारण किसानों को गेहूं, जौ, मसूर आदि के बीज के अलावा खेती के प्रयोग की दवाएं नहीं मिल पा रही है। किसान घंटों इंतजार करने के बाद कृषि प्रसार केंद्रों से वापस लौट रहे हैं लेकिन अफसर कर्मचारियों की मनमानी की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

रबी के सीजन की फसलों की बुआई जिले के किसानों ने शुरू कर दी है। फसलों की बुआई के लिए जिले के सभी विकास खंड़ों में स्थित कृ़षि प्रसार केंद्रों पर सरसों, गेहूं, जौ, मसूर आदि के बीज के साथ ही खेती के प्रयोग में आने वाले जैविक उत्पाद ट्राइकोडर्मा आदि भी पहुंच गए हैं लेकिन कृषि प्रसार केंद्रों पर तैनात कर्मचारी मनमानी कर रहे हैं। शनिवार की दोपहर को क्षेत्र के किसान पंवासा में स्थित कृषि प्रसार केंद्र पर गेहूं आदि का बीज लेने के लिए पहुंचे लेकिन दोपहर एक बजे केंद्र पर ताले लटके हुए थे। किसान केंद्र पर तैनात कर्मचारियों के आने के इंतजार में ढ़ाई बजे तक बैठे रहे लेकिन कोई भी कर्मचारी केंद्र पर नहीं पहुंचा। घंटों से कर्मचारियों के आने के इंतजार में बैठे किसानों ने हंगामा करते हुए उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। मामला उच्चाधिकारियों तक पहुंचा तो केंद्र पर तैनात कर्मचारियों ने किसानों से संपर्क किया। इस दौरान धनेटा सोतीपुरा निवासी अब्दुल, अरमान, अतरासी निवासी श्रीपाल सिंह, विक्रमपुर निवासी राजपाल सिंह, देवपाल, रामकुमार, शाकिन निवासी दीपचंद, किसौली निवासी राजेश कुमार, बिचपुरी निवासी अनेक सिंह आदि मौजूद रहे। एडीओ कृषि योगेंद्र शर्मा ने बताया कि वह एक जांच में कादलपुर गए हुए थे। स्टोर इंचार्ज छुट़टी पर थे। इस वजह से किसानों को परेशानी हुई।

दोपहर बारह बजे बीज लेने आए थे। इंतजार करते-करते ढ़ाई घंटे बीत गए लेकिन अभी तक कोई भी कर्मचारी नहीं आया है। जिससे परेशानी हो रही है। यहां तैनात कर्मचारी आए- दिन ऐसे ही करते हैं।

अब्दुल रहीम, धनैटा सोतीपुरा

कर्मचारियों के इंतजार में तीन घंटे से बैठे हैं। बीस से अधिक किसान कर्मचारियों के आने का इंतजार करने के बाद वापस लौट गए। सोचा कि कुछ घंटे इंतजार कर लें क्योंकि बीज लेने के लिए कल फिर से आना होगा।

अरमान, धनैटा सोतीपुरा