DA Image
25 फरवरी, 2020|2:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संभल में खराब प्रगति पर दो चिकित्सकों को प्रतिकूल प्रविष्टि, दो का वेतन रोका

default image

प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत के अंतर्गत बनने वाले गोल्डन कार्ड की खराब प्रगति पर डीएम ने कड़ा रुख अपनाया है। डीएम ने लापरवाही पर अफसरों को जमकर फटकार लगाई। दो चिकित्सकों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के साथ ही दो प्रभारी चिकित्सकों का वेतन रोकने के निर्देश दिए। इसके साथ ही संतोषजनक काम न करने वाली आशाओं की सेवा समाप्त करने के आदेश जिलाधिकारी ने दिये।

डीएम के बार-बार निर्देश देने के बावजूद भी स्वास्थ्य महकमा सुधारने को तैयार नहीं है। वह प्रधानमंत्री की महत्वकांची योजना आयुष्मान भारत में अपनी गति कछुआ चाल से ही काम करने का काम कर रहा है। कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने पाया कि असमोली व संभल के सीएससी केंद्रों पर गोल्डन कार्ड बनाए जाने की प्रगति बहुत ही खराब है। जिस पर उन्होंने चिकित्सक डा़ संदीप राहल व संभल के चिकित्सक डा़ जुहैब करीम को जमकर फटकार लगाते हुए कहा कि उनका कार्य संतोषजनक नहीं है। डीएम ने दोनों ही चिकित्सकों को प्रतिकूल प्रविष्टि दिए जाने के निर्देश दिए। वहीं बहजोई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व गुन्नौर की सीएससी पर भी खराब प्रगति पाई गई। जिस पर डीएम ने चिकित्सक शिशुपाल व बहजोई के चिकित्सक डाक्टर बी एल बिराटिया के अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने के निर्देश दिए। डीएम ने अफसरों को निर्देश दिए कि गोल्डन कार्ड कम बनने पर सभी आशाओं की मानिटरिंग की जाए। सभी लोगों को इलाज के लिए सीएचसी पर प्रेरित करने का काम किया जाए। आशाओं का कार्य संतोषजनक नहीं पाए जाने पर उनकी सेवाएं समाप्त कर दी जाए। डीएम ने आयुष्मान भारत योजना में ठीक से कार्य ना होने को लेकर जनपद के सभी चिकित्सा अधीक्षकों को जमकर फटकार लगाते हुए कार्य में तेजी लाकर लक्ष्य प्राप्त करने की बात कही। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा़ अमिता सिंह, डा़ अफजल कमाल, डा़ अजय कुमार वर्मा सहित जिलेभर के चिकित्सा अधीक्षक मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Adverse entry of two doctors due to poor progress in steady salary of two stopped