DA Image
27 सितम्बर, 2020|3:13|IST

अगली स्टोरी

महिला बंदियों के लिए वर्चुअल विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन

default image

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव न्यायिक अधिकारी सुमिता ने जिला कारागर में वर्चुअल विधिक साक्षरता शिविर से महिला बंदियों बात की। उन्होंने कहा कि महिला बंदियों को निशुल्क विधिक सहायता दी जाएगी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष/जनपद न्यायाधीश श्री सर्वेश कुमार के मार्गदर्शन में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जारी एक्शन प्लान के अनुपालन में वर्चुयल विधिक साक्षरता शिविर में महिला बंदियों से बात करते हुए बात की गई।

उन्होंने कारागार अधीक्षक को निर्देश दिए कि यदि किसी बन्दी के पास अधिवक्ता नही है तो वह उसका प्रार्थना पत्र जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में जिला कारागार सहारनपुर की सहायता से भिजवाये उन्हे तत्काल ही निःशुल्क अधिवक्ता उपलब्ध करा दिया जायेगा। उन्होंने महिला बन्दियों को घरेलू हिंसा अधिनियम एवं भरण पोषण के अधिकारों के बारे में जागरूक किया गया।

सचिव ने जिला कारागार अधीक्षक को यह भी निर्देशित किया कि यदि कोई बन्दी अस्वस्थ नजर आये तो उसे तुरन्त डाक्टर को दिखायें और कहा बचाव का एकमात्र विकल्प है। सचिव ने जिला कारागार सहारनपुर से ऐसे बन्दियों की सूची उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिये जिन्होने संबधित अपराध में पा्रविधानित कुल सजा की आधी सजा जेल में बिता ली है और उनको दण्ड प्रकिया संहिता की धारा 436-ए का लाभ प्राप्त हुआ है अथवा नहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Virtual legal awareness camp organized for women prisoners