अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्पिक मैके की विरासत श्रृंखला में आज राग अहीर भैरव की प्रस्तुति दी

स्पिक मैके की विरासत श्रृंखला  में आज राग अहीर भैरव की प्रस्तुति दी

पेपर मिल रोड सहारनपुर पब्लिक स्कूल में प्रातः राग स्पिक मैके की विरासत श्रृंखला में मुंबई से पधारे उस्ताद बहाउद्यीन डागर ने राग अहीर भैरव में बारह मात्रा की बंदिश प्रस्तुत की और बाद में राग गुंनकली में सात मात्रा की बंदिश प्रस्तुत की। उनके साथ पखावज परसंजय आगले और तानपुरे पर अनुपम तिवारी ने संगत की।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य सुधीर जोशी ने कहा कि उस्ताद बहाउद्दीन डागर देश के एक ऐसे न केवल संगीत घराने बल्कि परिवार से सीधा सम्बन्ध रखते हैं जिसे दुनियों भर में डागर के नाम से जानते हैं. महान संगीतकार हरिदास डागुर से चली आ रही संगीत परंपरा के ध्वज वाहक उस्ताद मोहि बहाउद्दीन डागर वश्वि के बहुत कम रूद्र वीणा वादकों में सर्वाधिक सम्मानित कलाकार हैं उन्होने कहा की २० वर्ष की आयु से ही उस्ताद बहाउद्यीन डागर ने रेडियो, टेलीविज़न के विभन्नि चैनलों पर नियमित कार्यक्रम प्रस्तुति के साथ साथ आपने दुनियों भर के संगीत प्रेमियों पर अपनी छाप छोड़ी है. भारत के अलाव फ्रांस, इंग्लॅण्ड तथा अमेरिका की अनेक कंपनियों ने आपके संगीत को रिकॉर्ड किया है। उन्होने बताया की उस्ताद ए.आर.रहमान के साथ हारमनी नाम के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। उन्होने युवाओं को भारतीय शास्त्रीय संगीत क़ी जानकारी होनी बहुत आवश्यक है ताकि युवा अपनी परंपरा को जाने ।इसलिए स्पिक मैके समय समय पर महान कलाकारों को छोटे बड़े सभी वद्यिालयों में लेकर जा रहा है।कार्यक्रम के संयोजन में जय शर्मा,अंकित बब्बर,सिंपी एवं शेफाली मल्होत्रा का योगदान रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Today in the legacy series of Spike McKay the performance of RAgh Ahir Bhairav