DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › सहारनपुर › टपरी शराब फैक्ट्री प्रकरण : लखनऊ एसटीएफ ने 25 हजार के इनामी ट्रांसपोर्टर को गिरफ्तार किया
सहारनपुर

टपरी शराब फैक्ट्री प्रकरण : लखनऊ एसटीएफ ने 25 हजार के इनामी ट्रांसपोर्टर को गिरफ्तार किया

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Sat, 31 Jul 2021 11:41 PM
टपरी शराब फैक्ट्री प्रकरण : लखनऊ एसटीएफ ने 25 हजार के इनामी ट्रांसपोर्टर को गिरफ्तार किया

टपरी स्थित कॉपरेटिव शराब फैक्ट्री के करोड़ों की टैक्स चोरी के मामले में एसटीएफ को एक और सफलता मिली। लखनऊ एसटीएफ की टीम ने 25 हजार के इनामी ट्रांसपोर्टर को गिरफ्तार किया है। ट्रांसपोर्टर की भी मिलीभगत टैक्स चोरी के मामले में सामने आई थी। टीम अब अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी में जुटी हुई है।

मार्च माह में सहारनपुर की टपरी स्थित शराब फैक्ट्री में करोड़ों की शराब चोरी पकड़ी गई थी। यूपी एसटीएफ को शिकायत मिली थी कि फैक्ट्री एवं स्थानीय डिस्ट्रीब्यूटरों एवं आबकारी विभाग की मिलीभगत से भारी मात्रा में टैक्स एवं एक्साइज ड्यूटी की चोरी की जा रही है। टैक्स इनवॉइस या गेटपास पर एक ही गाड़ी से दो बार शराब निकाल कर वेयर हाउसों में पहुंचायी जा रही थी। जिससे एक चक्कर में करीब 32 लाख रुपये की चोरी की जा रही थी। इस मामले में एसटीएफ ने यूनिट हैड समेत छह लोगों को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद इस मामले की तफ्तीश एसआईटी को सौंप दी गई थी।

तफ्तीश में सहारनपुर के ट्रांसपोर्टर सत्यवान शर्मा निवासी विवेक विहार अंबाला रोड कुतुबशेर का नाम भी सामने आया था। जिसके बाद एसटीएफ ने सत्यवान की गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। सत्यवान मूलरूप से धडेरू थाना भिवानी हरियाणा का रहने वाला था। एसटीएफ को सूचना मिली थी कि वह हरियाणा में ही छूपा हुआ है। जिसके बाद एसटीएफ की टीम ने हरियाणा के महेंद्रगढ़ से अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी एसटीएफ लखनऊ विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि 25 हजार के इनामी ट्रांसपोर्टर सत्यवान शर्मा को गिरफ्तार किया गया है।

2016 में शुरू किया था काम

एसटीएफ की पूछताछ में सत्यवान ने बताया वह 2002 से 2016 तक दिल्ली के एक ट्रांसपोर्ट पर मुंशी का काम करता था। वर्ष 2016 में उसने सहारनपुर किशन लाल छाबरा और विक्की खुराना के साथ मिलकर अंबाला रोड पर ट्रांसपोर्ट कंपनी खोली थी। जिसके बाद गाडियों को पिलखनी शराब फैक्ट्री में लगाया था। बताया जा रहा है कि वहां भी उन्होंने अवैध रूप से शराब की सप्लाई कर टैक्स की चोरी की थी।

संबंधित खबरें