DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्मार्ट सिटी : स्मार्ट सिटी : गुणवत्तापरक जीवन स्तर के साथ स्वच्छता पर होगा फोकस

स्मार्ट सिटी योजना को लेकर लखनऊ में हुए दो दिन की कार्याशाला में अब तक के कार्यों की समीक्षा की गई। योजना में अब तक सहारनपुर की स्थिति कुछ खास अच्छी नहीं है।

सहारनपुर सहित प्रदेश के कई शहर अब तक योजना के तहत काम भी शुरू नहीं कर पाए हैं। जिस पर सभी शहरों को जल्द से जल्द काम शुरू करने को कहा गया है। शहरों को इंफ्रास्ट्रक्चर, पर्यावरण और यातायात की व्यवस्था को दुरुस्त करने को कहा गया है। लखनऊ में दो दिन की स्मार्ट सिटी राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें महापौर संजीव वालिया, कमिश्नर सीपी त्रिपाठी और नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने सहारनपुर का प्रतिनिधित्व किया गया। बैठक में स्मार्ट सिटी योजना में अब तक हुए विकास कार्यों की समीक्षा की गई। जिसमें सहारनपुर सहित प्रदेश के सभी शहरों की स्थिति खराब ही रही। कई शहरों में तो अब तक पीएमसी का चयन तक नहीं हुआ है। महापौर संजीव वालिया ने बताया कि कार्यशाला में नगरवासियों को गुणवत्तापरक जीवन स्तर के साथ स्वच्छ, स्थायी व सुविकसित वातावरण प्रदान करते हुए उन्हें बेहतर नगरीय सुविधाएं उपलब्ध कराने का लक्ष्य तय किया गया है। जिसमें तीन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर फोकस किया गया है। जिसमें शहर की जरूरत के हिसाब से इंफ्रास्ट्रक्चर, पर्यावरण और यातायात व्यवस्था को सबसे महत्वपूर्ण माना गया है। कार्यशाला में अब तक काफी काम कर चुके शहरों के प्रतिनिधियों ने अपने अनुभवों को साझा किया है। जिससे काफी कुछ सिखने को मिला है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी योजना पर जल्द से जल्द काम शुरू करने को कहा गया है। सरकार की मंशा के अनुरूप जल्द की स्मार्ट सिटी योजना पर काम शुरू हो जाएगा। जिससे शहर में जल्द ही बदलाव नजर आने लगेगा। नगर आयुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि पीएमसी का चयन होने के बाद प्रपोजल का डीपीआर तैयार कराने का काम तेजी से किया जाएगा। शासनदेश के अनुसार जल्द से जल्द महानगर में विकास कार्य शुरू कराएं जाएंगे। सबसे पहले इंफ्रास्ट्रक्चर, पर्यावरण और यातायात व्यवस्था को ही दुरुस्त किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Smart City: Focus on hygiene with quality of living standards