DA Image
1 जुलाई, 2020|6:11|IST

अगली स्टोरी

सवा तीन महीने बाद खुले स्कूल, केवल टीचर्स पहुंचे

default image

सवा तीन महीने से बंद स्कूल गुरुवार को खुल गए। स्कूल खुलने के पहले दिन शिक्षकों ने सफाई व्यवस्था से लेकर मिड-डे मील कार्य निपटाया। इसके साथ ही शिक्षकों ने सेनेटाइज किया। पहले दिन स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति 70 फीसदी रही। 30 फीसदी शिक्षक स्कूल नहीं पहुंचे।कोरोना वायरस के चलते 21 मार्च को जनता कफ्र्यू रहा। इसके बाद 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन घोषित कर दिया। जिससे स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए।

करीब सवा तीन माह गुरुवार (एक जुलाई) को जिले के बेसिक और माध्यमिक स्कूल खुले। स्कूल खुलने पर बच्चे और अभिभावक जानकारी लेने के लिए पहुंचे। लेकिन शिक्षकों ने उन्हें यह कहकर वापस किया अभी स्कूल जरुर खुले है। बच्चे नहीं आएंगे। केवल शिक्षकों को ही बुलाया गया है। स्कूल यथावत समय पर खुले। इसके बाद शिक्षकों ने सबसे पहले सेनेटाइज किया। स्कूल की सफाई कराई। इसके साथ ही मिड-डे मील का पैसा बच्चों के अभिभावकों के खाते में पहुंचाने आदि प्रक्रिया निपटाई।

इतना ही नहीं स्कूल खुलने के पहले दिन शिक्षकों की उपस्थिति बेहद कम रही। जिले में 1931 बेसिक स्कूल हैं। इनमें 1355 प्राइमरी और 576 जूनियर स्कूल हैं। इनमें करीब चार हजार शिक्षक तैनात हैं। गुरुवार को 70 फीसदी शिक्षक स्कूलों में उपस्थित हुए। बाकी 30 फीसदी शिक्षक नहीं आए।

वर्जन

सवा तीन माह स्कूल खुले हैं। स्कूल में केवल शिक्षक ही पहुंचे। अभी बच्चों को नहीं बुलाया गया। पहले दिन शिक्षकों की उपस्थिति भी कम रही। स्कूलों से बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई कराई जाएगी।

- रमेंद्र कुमार सिंह, बीएसए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Schools open after three and a quarter months only teachers arrive