DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहारनपुर में बवाल: बाबा साहब की प्रतिमा की क्षतिग्रस्त, गुस्साई भीड़ ने किया पथराव

सहारनपुर: बेहट में डा.भीमराव आंबेडकर प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने पर बवाल, पथराव

शरारती तत्वों की हरकत ने मंगलवार को सहारनपुर में एक बार फिर बवाल करा दिया। देहात कोतवाली क्षेत्र के घुन्ना गांव में सुबह के समय बाबा आंबेडकर की प्रतिमा टूटी मिली तो लोगों का गुस्सा भड़क गया। गुस्साई भीड़ और भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे को जाम कर दिया। शाकुंभरी देवी की यात्रा पर जा रहे हजारों श्रद्धालु पांच घंटे तक जाम में फंसे रहे। पुलिस ने जब जाम खुलवाने के लिए बल प्रयोग किया तो भीड़ ने पथराव कर दिया और श्रद्धालुओं के साथ भी मारपीट की। पथराव-मारपीट में कई पुलिसकर्मी और श्रद्धालु घायल हो गए। बाद में नई प्रतिमा स्थापित करने पर मामला शांत हुआ। पुलिस मामले में कार्रवाई की तैयारी कर रही है।
घुन्ना गांव में कई दिन से म्हाड़ी मेला चल रहा था। मेलास्थल के पास ही बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा स्थापित है। सोमवार रात शरारती तत्वों ने बाबा साहब की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। मंगलवार सुबह सात बजे ग्रामीणों ने प्रतिमा क्षतिग्रस्त देखी तो हंगामा शुरू कर दिया। नई प्रतिमा स्थापित करने की मांग करते हुए ग्रामीणों ने दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पर पुलिस अफसरों में खलबली मच गई। फोर्स के साथ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। इस दौरान भीम आर्मी के राष्ट्रीय महासचिव कमल वालिया व बड़ी संख्या में भीम आर्मी कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंच गए। जाम में माता शाकुंभरी देवी की यात्रा पर जा रहे हजारों श्रद्धालु फंस गए। 
एसपी सिटी विनीत भटनागर और एसडीएम सदर अनिल कुमार ने घुन्ना गांव में जाम खुलवाने के लिए भीड़ को समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग प्रतिमा खंडित करने वालों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। पांच घंटे बीतने के बाद भी जब लोगों ने जाम नहीं खोला तो पुलिस ने बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ने का प्रयास किया।
पुलिस की कार्रवाई पर भीड़ हिंसक हो गई और पथराव करना शुरू कर दिया। शाकुंभरी देवी की यात्रा पर जा रहे श्रद्धालुओं से भी मारपीट की गई। पथराव में आधा दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी और कई श्रद्धालु घायल हो गए। डीएम आलोक कुमार पांडेय और एसएसपी दिनेश कुमार पी भी मौके पर पहुंचे। मौके पर तनाव की स्थिति को देखते हुए फोर्स तैनात कर दी गई। उधर, घुन्ना गांव आठ किमी दूर नाजिरपुरा गांव में भी भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने जाम लगाया। जाम की फोटो खींच रहे कई लोगों के मोबाइल फोन तोड़ दिये। एलआईयू के इंस्पेक्टर को भी घेर लिया। बाद में बमुश्किल जाम को खुलवाया जा सका। नाजिरपुरा गांव में भी फोर्स तैनात कर दी गई है। बाद में घुन्ना गांव में नई प्रतिमा लगवाई गई तब जाकर मामला शांत हुआ। एसएसपी दिनेश कुमार पी का कहना है कि घुन्ना गांव में बाबा साहब आंबेडकर की प्रतिमा को शरारती तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दिया था। इससे गुस्साए लोगों ने सड़क पर जाम लगा दिया। काफी देर तक जाम खुलवाने का प्रयास किया। भीड़ में शामिल अराजक तत्वों ने पुलिस और माता शाकुंभरी देवी के दर्शनों को जा रहे श्रद्धालुओं पर पथराव किया। हिंसा करने वाले युवकों को चिन्हित किया गया है। मुकदमे दर्ज कर सभी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Saharanpur Ruckus stone pelting at Dr Bhimrao Ambedkar statue damaged in Behat