DA Image
27 अक्तूबर, 2020|12:37|IST

अगली स्टोरी

सफाईकर्मी रहे हड़ताल पर, घंटाघर पर जाम लगाकर हंगामा, पुलिस से नोकझोंक

default image

सहारनपुर। संवाददाता

हाथरस प्रकरण को लेकर लोगों को आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को नगर निगम सफाईकर्मियों ने नगर निगम में हड़ताल कर दी। सुबह के समय सभी कर्मचारी नगर निगम में एकत्र हुए। इसके बाद नगर निगम से अंबाला रोड होते हुए घंटाघर पर पहुंचे और घंटाघर पर जमा लगा दिया।

महिलाएं भी बड़ी संख्या में आक्रोशित नजर आईं। हाथों में हत्यारों को फांसी दो की मांग करते हुए जमकर हंगामा किया। साथ ही सरकार के खिलाफ भी नारेबाजी की। करीब तीन घंटे तक चले हंगामे में बाद अफसरों को ज्ञापन सौंपा। इसके बाद मामला शांत हुआ।

हाथरस में किशोरी की हत्या के प्रकरण के बाद देशभर में आक्रोश है। पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और अभियुक्तों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए नगर निगम सफाई कर्मचारियों ने भी हड़ताल की घोषणा कर दी। अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के प्रदेश महासचिव सोनी आजाद के नेत़ृत्व में गुरुवार सुबह को ही सभी सफाईकर्मी नगर निगम में एकत्र हुए और गैराज पर ताला लगा दिया। इसके बाद नगर निगम परिसर में ही धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया।

नगर निगम में प्रदर्शन की खबर के बाद बड़ी संख्या में फोर्स तैनात कर दिया गया। सिटी मजिस्ट्रेट, एसपी सिटी भी मौके पर पहुंच गये। जहां पर नगर निगम कर्मचारियों को शांत करने का प्रयास किया गया। लेकिन, कर्मचारियों ने घंटाघर जाने की बात कही। सफाई मजदूर संगठन के पदाधिकारी सोनी आजाद के नेतृत्व में हजारों की संख्या में सफाईकर्मी जुलूस के रूप में अंबाला रोड से होते हुए घंटाघर पर पहुंच गये और जाम लगाकर हंगामा शुरू कर दिया।

0-मानव शृंखला बनाकर लगाया जाम

घंटाघर पहुंचने के बाद सफाईकर्मियों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद आक्रोशित भीड़ ने मानव शृंखला बनाकर जाम लगा दिया। लोगों ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए जोरदार नारेबाजी। साथ ही हत्यारोपियों को भी फांसी दिए जाने की मांग की है। सरकार के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की गई।

0-महिलाएं भी पहुंची तख्ती लेकर

प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल रही। महिलाएं हाथों में तख्ती लेकर घंटाघर पर पहुंची। महिलाओं ने अभियुक्तों को फांसी दिए जाने की मांग की है। साथ ही परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

0-पुलिस से हुई नोकझोंक

नगर निगम से निकलते समय पुलिस ने सफाईकर्मियों को रोकने का प्रयास किया। जहां पर कर्मचारियों और पुलिस के बीच नोकझोंक हो गई। इसके बाद हंगामा हो गया। हालांकि बाद में अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के प्रदेश महासचिव सोनी आजाद ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपकर हत्यारोपितों को फांसी दिए जाने की मांग की। इस दौरान धीरज आजाद, बृजमोहन चिनालिया, राजकमल, दिनेश कल्याण, जसबीर, प्रवीण गंगोह, सोनी राज, निरंजन घावरी, अनिल शेरा, अमन प्रधान, लक्षमण सिंह, अशोक तेश्वर, विकास चंचल आदि रहे।

0-----------

0-तीन घंटे तक अटकी रही अफसरों की सांसें, भारी संख्या में रहा फोर्स

-नगर निगम से ही जुलूस के साथ फोर्स ने भी किया था मार्च

सहारनपुर। संवाददाता

नगर निगम सफाई कर्मचारियों की हड़ताल के बाद हंगामा खड़ा हो गया। वहीं अफसरों में भी खलबली मच गई। हजारों की संख्या में सफाईकर्मी सड़कों पर आ गये और घंटाघर को जाम कर दिया। सफाईकर्मियों ने सुबह नौ बजे से प्रदर्शन शुरू किया था। इसके बाद 11 बजे तक सभी कर्मचारी नगर निगम परिसर में एकत्र हुए। इसके बाद घंटाघर पर जाम लगा दिया। करीब एक घंटे तक घंटाघर पर भी जाम लगाकर हंगामा किया। तीन से चार घंटे तक चले हंगामे के दौरान अफसरों की सांसे अटकी रही। इसके बाद कर्मचारियों ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा और भीड़ शांतिपूर्ण तरीके से निकल गये।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Safai workers are on strike chaos in Ghantaghar uproar with police