DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › सहारनपुर › बिजली संकट गहराने से बढा रोसटिंग का समय
सहारनपुर

बिजली संकट गहराने से बढा रोसटिंग का समय

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Mon, 11 Oct 2021 11:35 PM
बिजली संकट गहराने से बढा रोसटिंग का समय

बिजली ग्रिडो में हो रही कोयले की कमी के चलते बडे शहरो के साथ-साथ देहात और ग्रामीण क्षेत्रो में बिजली रोसटिंग बढा दी गई है। आलम यह है कि नगर क्षेत्र में मात्र 15 से 18 घंटे व ग्रामीण क्षेत्रों मे 12 से 13 घंटे ही बिजली आपूर्ति हो रही है।

बिजली परियोजनाओं पर कोयले की कमी के कारण देशभर मे बिजली का संकट गहराता जा रहा है। जिसका असर अब देहात क्षेत्रों मे भी देखने को मिल रहा है। एक सप्ताह पूर्व पॉवर कॉपोरेशन द्वारा नगर क्षेत्र में 18 से 20 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 14 से 16 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही थी। लेकिन पिछले पाँच दिनों से पनपी बिजली समस्यां के कारण रोसटिंग का समय बढा दिया गया है। पॉवर कॉपोरेशन के अधिकारियो को उच्च स्तर से भी रोसटिंग बढाने के निर्देश मिल चुके है। जिसके चलते देवबंद क्षेत्र में 15 से 18 व ग्रामीण क्षेत्र में मात्र 12 से 13 घंटे ही बिजली आपूर्ति हो पा रही है। इतना ही नही रोसटिंग समय के अतिरिक्त भी दिनभर बिजली की आंखमिचौली चलती रहती है। एक्सईएन सुधाकर ने बताया कि क्षेत्र में नई रोसटिंग प्रणाली के अनुसार बिजली आपूर्ति की जा रही है। उन्होने बताया कि नगर व देहात क्षेत्र मे रोसटिंग के समय मे भी कुछ बदलाव किए गये है।

बिजली कटौती से श्रद्धालुओ को हो रही परेशानी

नवरात्र त्यौहार के समय पॉवर कॉपोरेशन द्वारा लागू की गई नई रोसटिंग प्रणाली श्रद्धालुओं के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। पॉवर ग्रिड मे कोयले की समस्यां गहराने के बाद से बिजली कटौती का समय तो बढा दिया गया। लेकिन सुबह पाँच बजे बिजली आपूर्ति बंद करने से अल सुबह श्री त्रिपुर मां बाला सुंदरी देवी मंदिर के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं एवं घूमने जाने वाले लोगो को सर्वाधिक परेशानी उठानी पड़ रही है। इतना ही नही बिजली आपूर्ति का समय घटने से औद्योगिक ईकाईयों को भी समस्यां से जूझना पड़ रहा है।

संबंधित खबरें