DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेल में रावण की हत्या की चल रही है साजिश, जेल अधिकारी भी शामिल

जेल में रावण की हत्या की चल रही है साजिश, जेल अधिकारी भी शामिल

35 दिन तक जेल में रहने के बाद जेल से रिहा हुए भीम आर्मी राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जेल प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। विनय रतन का दावा है कि जेल में चंद्रशेखर रावण की हत्या की साजिश चल रही है। साजिश में जेल प्रशासन के कई अधिकारी भी शामिल हैं।

विनय रतन का कहना है कि जेल प्रशासन का बंदियों के प्रति रवैया कतई भी अच्छा नहीं है। यही नहीं उन्होंने प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की मंशा पर भी सवाल उठाए हैं। सहारनपुर हिंसा के आरोप में जेल गए भीम आर्मी राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन 35 दिन बाद जमानत पर जेल से रिहा हो गए हैं। मंगलवार को उनकी रिहाई का परवाना जेल में पहुंचने के बाद बुधवार सुबह सात बजे उन्हें जेल से रिहा किया गया है। जेल से रिहा होने के बाद बौमियान बौद्धविहार में प्रेसवार्ता के दौरान विनय रतन ने जेल प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। विनय रतन का कहना है कि उन्होंने 35 दिन में जेल के अंदर की गतिविधियों देखी वह ठीक नहीं है। उनका दावा है कि जेल में रावण की हत्या की साजिश चल रही है। जेल प्रशासन के कई अधिकारी इस साजिश में शामिल है। उन्होंने दावा किया है कि जेल में रावण की सुरक्षा के इंतजाम नहीं किये गये, और उन्हें आम बंदी की तरह रखा गया है, जबकि चंद्रशेखर रावण राजनीतिक बंदी है और उसे उसी प्रकार से सुविधाएं मिलनी चाहिए। विनय रतन ने यह भी दावा किया है कि चंद्रशेखर के दांत में कई दिनों से परेशानी है। जेल प्रशासन उनका उपचार कराने को तैयार नहीं है। यह सब सत्ता के दबाव में किया जा रहा है। यही नहीं विनय रतन ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की मंशा पर भी सवाल उठाए है। उनका कहना है कि पुलिस प्रशासन रावण को दूसरी जेल में शिफ्ट करना चाहता है। विनय रतन ने सरकार पर भी भीम आर्मी की विचारधारा को खत्म करने का आरोप लगाया है। हालांकि इस संबंध में पूछे गये सवालों का विनय रतन कोई जवाब नहीं दे पाए। प्रेसवार्ता में राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत सिंह नौटियाल, जिलाध्यक्ष कमलवालिया और महानगर अध्यक्ष प्रवीण गौतम भी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Ravana's murder is going on in conspiracy, jail officer also involved