DA Image
22 अक्तूबर, 2020|6:12|IST

अगली स्टोरी

निजीकरण के विरोध बिजली कर्मचारियों का धरना जारी

default image

सहारनपुर। संवाददाता

निजीकरण के खिलाफ सभी संगठन एक मंच पर हैं। जिसके चलते बिजली कर्मियों का धरना गुरुवार को भी जारी रहा। प्रदेश सरकार ने पूर्वांचल बिजली को निजी हाथों में सौंपने का ऐलान किया है। निजीकरण को लेकर प्रदेश सरकार ने कार्रवाई भी शुरू कर दी है।

निजीकरण के विरोध में विद्युत निगम के विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने मोर्चा खोल दिया है। अधिकारी-कर्मचारी पूर्व दिनों की तरह गुरुवार को अधीक्षण अभियंता कार्यालय के बाहर एकत्रित हुए। यहां धरने को संबोधित करते हुए राकेश कुमार ने कहा कि पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के निजीकरण को लेकर हड़ताल के लिए मजबूर किया जा रहा है।

हड़ताल करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। धरने में एसई पंकज श्रीवास्तव, एके वर्मा, राजीव भट्ट, ओमप्रकाश, रोबिन सिंह, केपी यादव, जितेंद्र, अजय कन्नौजिया, प्रमोद शर्मा, पवन सिंह, दीपक आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Power workers continue to protest against privatization