DA Image
22 सितम्बर, 2020|11:10|IST

अगली स्टोरी

रमजान के पहले जुमे की नमाज लोगों ने घरों में पढ़ी

default image

कोरोना संक्रमण के चलते लगाए गए लॉक डाउन में रमजान माह के पहले शुक्रवार को जुमा की नमाज़ महिला पुरुषों ने घरों में ही बड़े अकीदत के साथ पढ़ी।

शुक्रवार को पवित्र माह रमजान के पहले जुमे की नमाज के दौरान सभी मस्जिदों के दरवाजे बंद रहे। जहां पहले जुमे के दिन कस्बे के बाजार गुलजार रहते थे उन्हीं बाजारों में आज पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। महिला, पुरुषों ने घर बैठकर ही नमाज पढ़ी तथा मुल्क व कौम की सलामती की प्रार्थना करते हुए अल्लाह से कोरोना वायरस को जड़ से उखाड़ फेंकने की प्रार्थना की।

मोहल्ला मिर्धान स्थित मरकज मस्जिद में मौलाना मोहम्मद गुलफाम अहमद ने केवल चार व्यक्ति चार व्यक्तियों के साथ सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखते हुए जुमे की नमाज पढ़ी। मौलाना ने कहा कि रमजान महा के पहले जुमे की नमाज लोगों ने घरों में ही पढ़ी है। महिलाएं पुरुष घर में रहकर ही कुरान शरीफ का पाठ पढ़ रहे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:People offered prayers in homes before Ramadan