ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश सहारनपुरसस्ता और सुलभ न्याय दिलाना लोक अदालत का उद्देश्य: जिला जज

सस्ता और सुलभ न्याय दिलाना लोक अदालत का उद्देश्य: जिला जज

शनिवार को सहारनपुर दीवानी कचहरी परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें 4.26 लाख से अधिक वादों का निस्तारण किया। जिसमें 21 करोड़ दो...

सस्ता और सुलभ न्याय दिलाना लोक अदालत का उद्देश्य: जिला जज
हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरSun, 10 Dec 2023 12:05 AM
ऐप पर पढ़ें

शनिवार को सहारनपुर दीवानी कचहरी परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें 4.26 लाख से अधिक वादों का निस्तारण किया। जिसमें 21 करोड़ दो लाख रुपये की धनराशि प्राप्त की। इस दौरान जिला जज बबीता रानी ने कहा कि आम जनता को सस्ता और सुलभ न्याय दिलाना ही लोक अदालत का उद्देश्य है।

शनिवार को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर लोक अदालत का आयोजन किया। सुबह 10 बजे जिला जज बबीता रानी, प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय नरेन्द्र कुमार एवं पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण सजंय कुमार ने लोक अदालत का शुभारंभ किया। इस दौरान जिला जज ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत का उद्देश्य अधिक से अधिक लाभ वादकारियों को पहुंचाना है। इस मौके नरेन्द्र कुमार प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय एवं पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना प्रतिकर संजय कुमार, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अरविन्द कुमार व महासचिव मुनव्वर आफताब अहमद ने भी अपने विचार वयक्त कियें।

राष्ट्रीय लोक अदालत में जिला जज बबीता रानी की अदालत में दो, प्रधान न्यायाधीश नरेंद्र कुमार के 124, पीठासीन अधिकारी मोटर दुर्घटना प्रतिकर वाद के 25 मामले, अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश अरविन्द कुमार गौतम के न्यायालय से 70, ललित नारायण झा प्रथम अपर जिला जज के 6, प्रकाश तिवारी अपर जिला जज के 14, शाश्वत पाण्डेय अपर जिला जज के यहां एक वाद का निस्तारण हुआ। लोक अदालत में कुल 4,16,086 वाद निस्तारित हुए। बैकों के लोन सम्बन्धी प्रिलिटिगेशन वाद 1148 निस्तारित हुए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें