DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › सहारनपुर › अब शिक्षा की अलख जगाएंगी आंगनबाड़ी कार्यकत्री
सहारनपुर

अब शिक्षा की अलख जगाएंगी आंगनबाड़ी कार्यकत्री

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Mon, 25 Jan 2021 11:51 PM
अब शिक्षा की अलख जगाएंगी आंगनबाड़ी कार्यकत्री

बच्चों को पोषण देने के साथ अब आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां शिक्षा की अलख जगाएंगी। जिले में आंगनबाड़ी केंद्र अब प्री-प्राइमरी स्कूल के रूप में संचालित होंगे। प्री-प्राइमरी की तर्ज पर बच्चों को शिक्षा दी जाएगी। इसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को शिक्षा विभाग की तरफ से ब्लॉक संसाधन केंद्रों पर विशेष ट्रेनिंग दी जा रही है। निर्धारित पाठ्यक्रम के तहत इसमें बच्चों को चित्र, कार्टून, कठपुतली के अलावा खेल-खेल में पढ़ाने का रोचक तरीका बताया जा रहा है।

नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षा में कई अहम बदलाव किए गए हैं। उनमें से एक आंगनबाड़ी केंद्रों को प्री-प्राइमरी स्कूल के रूप में संचालित करना भी है। प्रदेश सरकार आंगनबाड़ी केंद्रों को वर्ष 2021 से प्री-प्राइमरी शिक्षा के रूप में संचालित करने की तैयारी में है। योजना के तहत जिले में भी संचालित आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्री स्कूल में संचालित किया जाएगा। जिसकी तैयारियां अभी से शुरू हो गई है।

बेसिक शिक्षा विभाग ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को ब्लॉक संसाधन केंद्रों पर विशेष ट्रेनिंग देनी शुरू भी कर दी है। उम्मीद जताई जा रही है कि ट्रेनिंग पूरी होने के बाद नए शिक्षा सत्र से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां केंद्रों पर प्री-नर्सरी के बच्चों को पढ़ाया जाएगा। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को अब पोषण देने के साथ-साथ शिक्षा की अलख जगाने की भी जिम्मेदारी मिलने जा रही है।

-वर्जन

आंगनबाड़ी केंद्रों को प्री-प्राइमरी स्कूल की तरह संचालित करके बच्चों को शिक्षा देने की योजना है। इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को बीआरसी पर ट्रेनिंग दी जा रही है। यह सब नई शिक्षा नीति के तहत किया जा रहा है। शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा।

रमेंद्र कुमार सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी

संबंधित खबरें