DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुसलमान गाय पालने और खरीदने से करें परहेज करें मुसलमान: मौलाना अरशद

जमीयत उलेमा ए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने देश में गाय के नाम पर हो रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए इसे षडयंत्र करार दिया।

मौलाना मदनी ने गोहत्या पर पूर्णत्या पाबंदी लगाने के लिए सरकार से इसे राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग करते हुए मुसलमानों से गोवंश पालने और खरीदने से दूर रहने को कहा। देश में बढ़ रही मॉब लिचिंग की घटनाओं पर रविवार को मौलाना अरशद मदनी ने बयान जारी करते हुए चिंता व्यक्त की। मौलाना ने मॉब लिचिंग की बढ़ती घटनाओं के लिए सरकारी मशीनरी की नाकामी करार दिया। उन्होंने कहा कि जब तक आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं होगी, तब तक इस तरह की घटनाओं में कमी आना मुश्किल है।

मौलाना मदनी ने कहा कि सु़प्रीम कोर्ट मॉब लिचिंग कड़ा रुख व्यक्त कर चुका है, लेकिन सरकार की नाकामी की वजह से इस तरह की घटनाओं का न रुकना किसी षडयंत्र का हिस्सा है। मौलाना ने सरकार की नियत पर सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार गाय को सुरक्षित रखने के लिए इसे राष्ट्रीय पशु घोषित क्यों नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को मॉब लिंचिंग की घटनाओं की निंदा करने के बजाय ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए जो इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। मौलाना मदनी ने कहा कि मुसलमानों को चाहिए कि ऐसे हालात में वह गाय पालना और खरीदना बंद करें। यहां तक कि गाय के दूध का इस्तेमाल भी बंद कर दें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Muslims do not save cow from buying and buying Muslims: Maulana Arshad