ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश सहारनपुरमहायोजना 2031 : सात जोन में बांटकर होगा शहर का विकास, दिल्ली रोड पर लगेंगे उद्योग

महायोजना 2031 : सात जोन में बांटकर होगा शहर का विकास, दिल्ली रोड पर लगेंगे उद्योग

महानगर के सुनियोजित विकास के लिए महायोजना 2031 का ड्राफ्ट तैयार किया गया है। ड्राफ्ट को फाइनल कर शासन को भेज दिया गया। महानगर के आसपास के 144 गांव...

महायोजना 2031 : सात जोन में बांटकर होगा शहर का विकास, दिल्ली रोड पर लगेंगे उद्योग
हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरThu, 30 Nov 2023 11:55 PM
ऐप पर पढ़ें

महानगर के सुनियोजित विकास के लिए महायोजना 2031 का ड्राफ्ट तैयार किया गया है। ड्राफ्ट को फाइनल कर शासन को भेज दिया गया। महानगर के आसपास के 144 गांव को महायोजना में शामिल किया है। जिससे सहारनपुर विकास प्राधिकरण का दायरा 237 वर्ग किमी तक बढ़ गया है। खास बात यह है कि महायोजना में दिल्ली रोड, अंबाला रोड और देहरादून रोड को उद्योगों के लिए आरक्षित किया गया है। जबकि, हाईवे के किनारे पर सभी प्रकार की गतिविधियां हो सकेंगी।

शहर के विकास के लिए महायोजना योजना 2031 का मास्टर प्लान तैयार करने के लिए काफी समय से काम चल रहा था। सहारनपुर विकास प्राधिकरण को इसकी जिम्मेदारी दी गई थी। पिछले मास्टर प्लान में सहारनपुर विकास प्राधिकरण के दायरे में 102 गांव थे। लेकिन, अब विकास प्राधिकरण का दायरा बढ़ाने पर जोन दिया गया। जिस कारण सहारनपुर महानगर के आसपास के 42 और गांव मास्टर प्लान में शामिल कर लिए गए हैं। जिससे अब एसडीए के अंतर्गत 144 गांव में भू उपयोग को निर्धारित कर दिया गया है। जिससे एसडीए का दायरा 6981.19 हेक्टयर तक बढ़ गया है।

----

दिल्ली रोड पर सबसे अधिक बढ़ेगा शहर

मास्टर प्लान में जो 42 गांव शामिल किए गए हैं उनमें से सबसे अधिक गांव दिल्ली रोड के आस-पास के रखे गए हैं। जिससे सबसे अधिक विकास इसी क्षेत्र में होगा। शहर के विकास को सुनिश्चि करने के लिए सात जोन में बांटा गया है।

---

दिल्ली और अंबाला रोड पर लगेंगे उद्योग

सहारनपुर विकास प्राधिकरण ने नए मॉस्टर प्लान में दिल्ली रोड, अंबाला रोड और देहरादून रोड पर उद्योगों के लिए आरक्षित रखा गया है। इसके साथ ही बाइपास और मिनी बाइपास के आस-पास के 500मीटर तक के क्षेत्र को मिश्रित भू-उपयोग में रखा गया है। जिस कारण यहां पर हर तरह की गतिवधियां की जा सकेंगी।

मास्टर प्लान पर आई थी 159 आपत्तियां

मास्टर प्लान का ड्राफ्ट तैयार करने के बाद महानगरवासियों ने आपत्तियां मांगी गई थी। प्लान पर कुल 159 आपत्तियां मिली थी। सभी आपत्तियों की सुनवाई कर उनका निस्तारण किया गया और उसके आधार पर मास्टर प्लान को फाइनल किया गया।

फैक्ट फाइल

सहारनपुर विकास प्राधिकरण के दायरे में होंगे--144 गांव

विकास प्राधिकरण का क्षेत्रफल होगा -237 वर्ग किमी

कुछ क्षेत्रफल हेक्टअर में --6981.19 हेक्टेअर

आवासीय क्षेत्र --3434.91 हेक्टेयर

व्यवसायिक क्षेत्र -157.33 हेक्टेअर

औद्योगिक क्षेत्र-902.02 हेक्टअर

सार्वजनिक क्षेत्र- 604.66 हेक्टेअर

पार्क व ओपन क्षेत्र-924.31 हेक्टेअर

यातायात के लिए आरक्षित--957.96 हेक्टेअर

0---वर्जन

महायोजना 2031 का मास्टर प्लान तैयार कर शासन को भेज दिया गया है। शासन से मंजूरी मिलने के बाद मास्टर प्लान को लागू कर दिया जाएगा।

-आशीष कुमार, उपाध्यक्ष एसडीए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें