अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहारनपुर-अंबाला हाईवे पर 25 घंटे लगा जाम

सहारनपुर-अंबाला हाईवे पर 25 घंटे लगा जाम

अंबाला राजमार्ग 344 पर मंगलवार की देर रात करीब दो बजे पुलिस ने हरियाणा की ओर से रेत खनन कर लाए जा रहे सैकड़ों ट्रकों को यूपी की सीमा में आने से रोक दिया। इसी दौरान हरियाणा की ओर जा रही लकड़ियों से भरी ओवरलोड ट्रैक्टर ट्रॉली यमुना पुल के पास भरभराकर गिर गई। जिस कारण यूपी की सीमा और हरियाणा की सीमा में लगभग 23 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। बुधवार को 3 बजे कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने जाम खुलवाया। उसके बाद ही यातायात सुचारु रूप से चल पाया।

हरियाणा की ओर से रेत खनन रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है। एसएसपी ने थाना प्रभारी व चौकी इंचार्ज को रेत खनन पर कड़ाई से लगाम लगाने के आदेश दिए हुए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेशों के चलते देर रात पुलिस ने हरियाणा की ओर से रेत खनन करके ला रहे ट्रक ट्राली और डंपर को यूपी की सीमा में घुसते ही रोक लिया। देखते ही देखते हजारों की संख्या में रेत खनन से लदे ट्रक टोलिया और अन्य वाहनों की लंबी कतारें हरियाणा की सीमा पार करते हुए यमुनानगर तक पहुंच गई। रात्रि करीब 2:00 बजे सहारनपुर की ओर से हरियाणा लकड़ी मंडी में लकड़ी लेकर जा रही ओवरलोड ट्रैक्टर ट्रॉली बैलेंस होकर यमुना पुल के पास पलट गई। राजमार्ग पर एक और रेत खनन से भरे वाहन तो दूसरी और ट्रैक्टर ट्रॉली के पलट जाने के कारण हरियाणा स्थित यमुनानगर तक वह यमुना पुल से पिलखनी तक लगभग 23 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। 13 घंटे लगे जाम के बाद बुधवार की दोपहर 3 बजे करीब पुलिस ने भारी मशक्कत के बाद जाम को खुलवाया। वहीं 13 घंटे लगे जाम के कारण जहां लकड़ियों से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली चालकों ट्रक चालकों के अलावा बस में सवार यात्रियों ने रात भर अपने अपने वाहनों में ही सोकर रात गुजारी।

मीरापुर जानसठ भोपा मुजफ्फरनगर रुड़की आदि शहरों से लकड़ी लेकर हरियाणा मंडी में जा रहे ट्रैक्टर चालकों इमरान इसरार नदीम गुलबहार वक्किी आदि ने जाम का कारण शाहजहांपुर स्थित यमुना के पुल के पास रेत खनन से भरे ओवरलोड वाहनों को बताया उन्होंने कहा कि यूपी की सीमा में घुसते ही सैकड़ों की संख्या में रात को रेत खनन से भरे वाहन आड़े-तिरछे खड़े हो जाते हैं जिस कारण जाम लग जाता है और आम आदमी के साथ साथ हर वर्ग के आदमी को जाम के झाम से जूझना पड़ता है।

जाम को लेकर हरियाणा यूपी पुलिस में आपस में ठनी

सरसावा मंगलवार की देर रात करीब 2 बजे हरियाणा पुलिस ने पुलिस चौकी कलानौर के पास हरियाणा की ओर से आ रहे रेत खनन से भरे वाहनों पर सख्ताई की तो हरियाणा में रेत खनन से भरे वाहनों की लंबी कतारें लग गई वहीं दूसरी ओर शाहजहांपुर पुलिस चौकी में भी रेत खनन से भरे वाहनों को यूपी में प्रवेश करने से मना कर दिया तो दोनों राज्यों की सड़कों पर कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया। शाहजहांपुर पुलिस चौकी इंचार्ज दुष्यंत कुमार ने बताया कि रात्रि में हमने जाम को खुलवाने का प्रयास करते हुए हरियाणा की ओर जा रहे वाहनों की एक लाइन चालू कराई। जिस कारण वाहनों को निकलने में काफी समय लग रहा था इससे खफा होकर हरियाणा पुलिस ने कलानौर चौकी पर यूपी की ओर से हरियाणा की ओर जाने वाले वाहनों की एंट्री पर रोक लगादी जिस कारण शाहजहांपुर पुलिस चौकी से लेकर पिलखनी तक लगभग 23 किलोमीटर लंबा जाम लग गया।

सरसावा बुधवार को रुड़की निवासी सतीश अपनी बिटिया की सगाई लेकर चंडीगढ़ जा रहे थे उनकी बस जब सरसावा पहुंची तो वह जाम में फंस गई। बस में सवार सतीश नवीन वीरेंद्र वक्रिम सिंह आदि ने बताया कि वह सगाई लेकर चंडीगढ़ जा रहे थे। लेकिन सुबह 5 बजे से दोपहर के 12 बज गए हैं। अभी तक यहीं खड़े हैं समझ में नहीं आ रहा कि वह चंडीगढ़ किस समय पहुंचेंगे और किस समय वहां सगाई की रसम पूरी होगी। उन्होंने कहा कि यदि हमें पता होता कि यहां इतना लंबा जाम लग रहा है तो वह अन्य किसी रास्ते से चंडीगढ़ समय से पहुंच जाते लेकिन यहां तो जाम में फंसकर बुरा हाल हो गया है लड़के वाले बार-बार फोन कर पूछ रहे हैं कहां तक आ गए। अब उन्हें क्या बताएं कि जाम कितना लंबा लगा हुआ है। उन्होंने एसएसपी से राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगे लंबे जाम को हटवाया जाने की गुहार लगाई।

जाम ने तोड़ी थ्री व्हीलर चालकों की कमर

सरसावा अंबाला राजमार्ग 344 पर 13 घंटे लगे जाम ने हर वर्ग को खूब परेशान किया इसकी जद में जहां सुबह के समय स्कूल जा रहे छात्र छात्राएं आए तो वही सरसावा से सहारनपुर की ओर सवारियां लेकर जाने वाले थ्री व्हीलर भी आ गए। थ्री व्हीलर यूनियन के प्रधान राजकुमार एजेंट जमील बैग गुलफाम आदि ने बताया कि हर रोज सुबह 6 बजे पहला थ्री व्हीलर सवारियां लेकर सहारनपुर जाता है। उसके बाद देर रात्रि 9 बजे तक सहारनपुर की और सवारियां आती जाती रहती है। लेकिन आज 3 बजे तक भी बामुश्किल तीन या चार ही थ्री व्हीलर सहारनपुर की ओर आ जा सके। क्योंकि इतने लंबे लगे जाम के कारण अधिकांश सवारियां घर से बाहर ही नहीं निकली और जो निकली भी वह भी सड़क पर जाम को देखकर वापस घर लौट गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: It takes 13 hours on Saharanpur-Ambala highway