DA Image
16 जनवरी, 2021|9:11|IST

अगली स्टोरी

कोरोना काल में सब्जियों का राजा आलू हुआ महंगा

default image

सब्जियों के राजा आलू ने अपनी अकड़ दिखाना शुरू कर दी है। आलू की कीमतें आसमान पर पहुंचने लगी है। भाव बढ़कर 40 रुपये किलो तक पहुंच गए हैं। वही रिफाइंड और सरसों का तेल भी तेवर दिखा रहा है। जिससे लोगों की चिंताएं बढ़ी हुई है। लोगों को कीमतें और बढ़ने का डर सताने लगा है।

आलू अधिकतर सब्जियों में प्रयोग किया जाता है और मध्यम वर्गीय परिवार अधिक खाते हैं। सब्जियों के राजा आलू की कीमतों में अचानक उछाल आया है। कारोबारी जहां उत्पादन में कमी बता रहे हैं तो कुछ लोग स्टॉक करने की बात कह रहे हैं। आलू एक महीना पहले 15 से 20 रुपये किलो में बिक रहा था लेकिन इसके दामो में एकाएक बढ़ोतरी हो गयी। अब आलू 30 से 40 रूप्ये किलो बिक रहा है।

जी 4 आलू की कीमत जहाँ 30 रुपये तो पहाड़ी आलू की कीमत 40रुपये किलो है। वही रिफाइंड तेल की कीमतों में भी बढोत्तरी हुई है। रिफाइंड जहाँ 97 रुपये लीटर था वही अब 110 रुपये दाम है सरसो का तेल भी 120 रुपये लीटर बिक रहा है। ग्रहणी रानी का कहना है कि आलू की कीमतें इतनी अधिक कभी नहीं हुई। कीमतें अधिक होने से इसका असर बजट पर पड़ रहा है। उधर दालों के दामों में गिरावट दर्ज की गई है।

-आलू का उत्पादन कम होने से ही आलू की कीमतों में इजाफा हुआ है। कोल्ड स्टोर में भी पर्याप्त भंडार नहीं है। किसान के पास भी आलू का स्टॉक समाप्त हो गया है, जिससे आने वाले समय में कीमतें और भी बढ़ेंगी।

-सन्दीप, आलू कारोबारी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:In the Corona era the king of vegetables potatoes became expensive