DA Image
23 सितम्बर, 2020|7:19|IST

अगली स्टोरी

दोस्तों ने पहले हत्या की, फिर मांगी 20 लाख की फिरौती

दोस्तों ने पहले हत्या की, फिर मांगी 20 लाख  की फिरौती

20 लाख रुपये की फिरौती ने देने पर अपहृत युवक की हत्या कर दी। हैरत की बात तो यह है कि हत्या युवक के चार दोस्तों ने ही की। पांच दिन पहले युवक का अपहरण हुआ था। जिसके बाद पिता ने दीपावली से अगले दिन थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने चार दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला गंगोह क्षेत्र के गांव सांगाठेड़ा का है। सांगाठेड़ा निवासी युवक मनीष उर्फ सोनू खेतों में पानी की पाइपलाइन बिछाने की ठेकेदारी का काम करता था। 26 अक्टूबर को वह अपने मामा के लड़के के साथ कार्ड बांटने की बात कहकर घर से निकला था। जिसके बाद वह घर पर लौटकर नहीं आया। 28 अक्टूबर को सोनू के पिता पितांबर के फोन पर एक अज्ञात नंबर से 20 लाख रुपये की फिरौती का फोन आया था। जिसमें फिरौती न देने के सोनू की हत्या करने की धमकी दी गई थी। फिरौती की कॉल आने के बाद परिवार में कोहराम मच गया। पितांबर ने गंगोह थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमा दर्ज करने के बाद से ही पुलिस लगातार युवक की तलाश शुरू कर दी। सोनू के पिता के मोबाइल पर आई फोन कॉल के आधार पर पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी। इसी बीच पुलिस को पता चला कि युवक को उसके चार दोस्तों ने गांगलहेड़ी में बुलाया था। वहां पर उसने उनके साथ खाना खाया। इसी दौरान किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया।

दोस्तों ने गला दबाकर सोनू की हत्या कर दी। शव को गागलहेड़ी के छाछरेकी के जंगल में फेंक दिया। उसके बाद मामले को दूसरा रूप देने के लिए दोस्तों ने 20 लाख की फिरोती फोन पर मांगी। पुलिस ने हत्याभियुक्त दीक्षित, राहुल, सचिन और अमरीश को गिरफ्तार कर लिया है। 0-वर्जन अपहरण का मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश हुई तो चार दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ हुई तो उन्होंने हत्या का जुर्म स्वीकार कर लिया। पुलिस ने शव बरामद कर लिया है। हत्या को अपहरण का रूप देने के लिए 20 लाख की फिरौती मांगी गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Friends first murdered then demanded 20 lakh ransom