DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सहारनपुर  ›  देहात--भूखे पेट पंद्रह सौ किलोमीटर के सफर पर साईकिल से निकल पडे चार मजदूर

सहारनपुरदेहात--भूखे पेट पंद्रह सौ किलोमीटर के सफर पर साईकिल से निकल पडे चार मजदूर

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Wed, 29 Apr 2020 10:20 PM
देहात--भूखे पेट पंद्रह सौ किलोमीटर के सफर पर साईकिल से निकल पडे चार मजदूर

चार दिन भूखे चेहरे और साईकिल चलाकर हांफते हुए थकावट चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी। फिर भी पंद्रह सौ किलोमीटर का सफर करने का जज्बा भी बातों से साफ झलक रहा था। यह हाल पंजाब के बरनाला में इंटरलॉकिंग ईंटों का काम करने वाले बिहार के जिला पश्चिम चंपारण के गांव रानी पगड़ी निवासी मजदूर रवि कुमार, राजबली, सुनील कुमार व मंटू का।

मंगलवार रात करीब दस बजे जब यह चारों मजदूर नकुड़ के विश्वकर्मा चौक पर पहुंचे तो पुलिस ने उनसे पूछताछ की। युवकों ने बताया कि लॉकडाउन लगने पर उनका ठेकेदार मजदूरी के पैसे लेकर भाग गया। जिसके बाद उन्होंने जैसे तैसे खाने का जुगाड किया। लेकिन जब उनकी भूखे मरने की नौबत आ गई और कहीं से कोई मदद नही मिली तो उन्होंने बिहार में अपने गांव परिजनों को जानकारी दी। उसके बाद ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा करके दो साईकिल खरीदने के लिए उनके खाते में पैसे डलवाए। बरनाला से दो नई साईकिल खरीदकर चारों युवकों ने करीब पंद्रह सौ किलोमीटर दूर अपने गांव जाने का निर्णय लिया। मेन रोड़ पर पुलिस का पहरा होने पर यमुना नदी पार करने के लिए कुछ लोगों ने दो सौ रुपये प्रति व्यक्ति भी ठग लिए।

नकुड़ पहुंचने पर अश्वनी सैनी, खलील निजामी व पुलिसकर्मियों ने युवकों को भर पेट खाना खिलाया और सीएचसी प्रभारी डॉ. अमन गोपाल ने मैडिकल टीम भेजकर जांच कराई। जिसमें युवक पूरी तरह स्वस्थ पाए गए। रात में उनके लिए सोने की व्यवस्था भी की गई। इतनी खातिर तवज्जों देखकर युवकों की आंखों में आंसू झलक आए। बुधवार सुबह तीन बजे उन्हें भोजन व दो-दो सौ रुपये देकर गंतव्य को भेजा गया।

संबंधित खबरें