DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सहारनपुर  ›  पांच स्थान पांच रिपोर्टर : नहीं मिल रहा स्लॉट, गांवों की ओर दौड़े युवा वर्ग
सहारनपुर

पांच स्थान पांच रिपोर्टर : नहीं मिल रहा स्लॉट, गांवों की ओर दौड़े युवा वर्ग

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Fri, 18 Jun 2021 04:40 AM
पांच स्थान पांच रिपोर्टर : नहीं मिल रहा स्लॉट, गांवों की ओर दौड़े युवा वर्ग

कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लोगों में जागरुकता बढ़ी तो मारामारी की स्थिति पैदा हो गई। हाल यह है कि ऑनलाइन स्लॉट तक नहीं मिल रहा है। शहरी देहात की दौड़ लगा रहे हैं। सुदूर कस्बों के सीएचसी पर युवा पहुंचकर टीका लगवा रहे हैं। हाल यह भी है कि रजिस्ट्रेशन के दौरान उन्हें अपना शहर तक नहीं मिल रहा है। जिसकी वजह से दूसरे शहरों में भी स्लॉट बुक कराकर टीका लगवाने के लिए आ रहे हैं। गुरुवार को हिन्दुस्तान में पांच केंद्रों का जायजा लिया।

-शहर के केंद्रों पर नहीं मिल रहा है स्लॉट

कोरोना की लड़ाई में सबसे बड़ा हथियार वैक्सीनेशन है, इसके बिना कोरोना से जंग जीतना संभव नहीं है। ऐसे में हर किसी को वैक्सीनेशन कराना जरूरी है। हाल यह है कि केंद्रों पर रोज लोगों की भीड़ उमड़ रही है। जिला अस्पताल, नेहरू मार्केट पुराना अस्पताल समेत शहर के केंद्रों पर स्लॉट फुल हैं। ऐसे में युवा वैक्सीनेशन को देहात के केंद्रों का रुख कर रहे हैं। टीकाकरण को लेकर गजब का उत्साह है। यहीं कारण है कि देहात के केंद्रों पर अधिक भीड़ चल रही है।

-देहात के केंद्रों पर बड़ी संख्या में पहुंच रहे शहरी

शहरी क्षेत्रों के केंद्रों पर स्लॉट बुक न होने से बड़ी संख्या में लोग देहात के केंद्रों पर वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंच रहे हैं। शहर से सटे सरसावा, राधा स्वामी सत्संग भवन, हलालपुर आदि जगहों पर शहरी कोरोना की वैक्सीन लगवाई। यहीं कारण है कि शहरी से ज्यादा देहात के केंद्रों पर अधिक भीड़ चल रही है। इतना ही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों में भी जागरूकता बढ़ी है। वेक्सीनेशन के दौरान गजब का उत्साह देखने को मिल रहा।

-रेलवे स्टेशन पर 100 से अधिक कर्मचारियों को लगाया टीका

कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाना बेहद जरूरी। क्योंकि कोरोना से बचाने में वैक्सीन से बड़ा कोई हथियार नहीं है। गुरुवार को डीआरएम जीएम सिंह, सीनियर डीसीएम हरिमोहन के निर्देश पर रेलवे स्टेशन वेक्सीनेशन शिविर लगाया गया। इसमें अधिकारी, कर्मचारी, कुली, वैंडरों को वैक्सीन लगाई गई। गुरुवार को शिविर में 100 से अधिक अधिकारी, कर्मचारी, कुली और वेंडरों ने सोशल डिस्टेसिंग के साथ कोरोना का टीका लगवाया। रेलवे कर्मचारियों को शत प्रतिशत टीकाकरण होना है। इसलिए यहां शुक्रवार को भी वेक्सीनेशन होगा।

-प्रतिदिन 250 से अधिक ले रहे सुरक्षा कवच

जिला अस्पताल में भी कोरोना टीकाकरण हो रहा है। यहां रोजाना 250 से अधिक लोग सुरक्षा कवच ले रहे हैं। 16 जनवरी से जिला अस्पताल में टीकाकरण जारी है। गुरुवार को भी जिला अस्पताल में वैक्सीनेशन हुआ। कभी-कभी केंद्र पर टीकाकरण को लेकर खासी भीड़ रहती है। इतना ही नहीं यहां आने वाले हर व्यक्ति को टीका लगने के बाद पैरासिटामोल खाने की सलाह भी दी जाती है। टीकाकरण से पहले लाभार्थियों की आईडी चेक की जाती है।

-दूसरी डोज लगवाने को युवाओं में रहा उत्साह

कोरोना की दूसरी डोज महिला अस्पताल की नई बिल्डिंग में लगाई जाती है। शुक्रवार को 18 से 44 और 45 साल अधिक उम्र के लोगों ने महिला अस्पताल पहुंचकर कोरोना की दूसरी डोज लगवाई। इनके साथ ही पहली डोज भी लगाई गई है। इसलिये यहां सुबह से ही लंबी कतार रही। टीकाकरण को लेकर खासा उत्साह दिखाई दिया। दोपहर बाद ही भीड़ हल्की हो सकी। शाम तक यहां करीब 25 फीसदी तक टीकाकरण हुआ है। टीकाकरण के बाद लोगों को वैक्सीन के बारे में भी समझाया गया।

संबंधित खबरें