DA Image
19 अक्तूबर, 2020|4:26|IST

अगली स्टोरी

कोरोना के बाद पहली माइक्रो लोक अदालत, 756 वाद निस्तारित

default image

सहारनपुर। संवाददाता

लॉकडाउन के बाद लंबित पड़े वादों के निस्तारण के लिए माइक्रो लोक अदालत लगी। जिसमें आपसी सुलह समझौते के आधार पर 756 वादों को निस्तारित कर दिया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला जज सर्वेश कुमार के निर्देश पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं वरिष्ठ न्यायिक अधिकारी सुमिता ने बताया कि रविवार को लोक अदालत का आयोजन किया गया। माइक्रो लोक अदालत में कुल 756 लघु फौजदारी वाद निस्तारित हुए। जिसमें अपर जिला जज अहसन हुसैन के न्यायालय से 2 वाद अर्थदण्ड 200 रुपये, अपर जिला जज तैय्यब अहमद के न्यायालय से 1 फौजदारी वाद 1000 अर्थदण्ड, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अनिल कुमार के न्यायालय से कुल 240 वाद निस्तारित व साढ़े 30 रुपये अर्थदण्ड, हषिकेश पाण्डये एसीजेएम प्रथम 57 वाद 26,700 रुपये अर्थदण्ड, राजन कुमार गौड एसीजेएम द्वितीय के न्यायालय से 32 वाद व 3200 रुपये अर्थदण्ड, अनन्त कुमार ग्राम न्यायालय बेहट के 2 वाद, रोहित पुरी जेएम द्वितीय के 10 फौजदारी वाद व 3150 रुपये अर्थदण्ड, कुमारी स्वेता नैन जेएम तृतीय के 8 वाद व 900 रुपये का अर्थदंड, कुमारी जीनत प्रवीन सिविल जज जेडी/एफटीसी के 5 वाद व 250 रुपये अर्थदण्ड, एलके राठी अतिरिक्त जज के 3 वाद निस्तारित हुए।

देवबन्द न्यायालयों में सन्दीप एसीजेएम देवबन्द के 15 वाद 3700 रुपये अर्थदण्ड, लीलू सिविल जज जेडी देवबन्द 15 वाद व 3400 रुपये अर्थदण्ड, आदित्य सिंह अपर सिविल जज जेडी देवबन्द के 24 वाद व 25500 रुपये अर्थदण्ड प्राप्त हुआ। प्रशासन द्वारा भी 339 फौजदारी वाद निस्तारित किए। जिससे माईक्रो लोक अदालत में न्यायिक एवं प्रशासनिक न्यायालयों के कुल 756 फौजदारी वाद निस्तारित हुए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:First Micro Lok Adalat after Corona 756 suit settled