DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सहारनपुर  ›  जिला पंचायत अध्यक्ष : बसपा के साथ कांग्रेस आई, सियासी पारा चढ़ा
सहारनपुर

जिला पंचायत अध्यक्ष : बसपा के साथ कांग्रेस आई, सियासी पारा चढ़ा

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 04:30 AM
जिला पंचायत अध्यक्ष : बसपा के साथ कांग्रेस आई, सियासी पारा चढ़ा

जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव कार्यक्रम जारी होते ही जिले का सियासी पारा चढ़ गया है। भाजपा को रोकने के लिए बसपा और कांग्रेस ने हाथ मिला लिया। साथ ही भाकियू भी कांग्रेस और बसपा के साथ खड़ी हो गई। मंगलवार को प्रेसवार्ता में बसपा उम्मीदवार शिमला देवी को संयुक्त प्रत्याशी घोषित किया गया।

मंगलवार को अंबाला रोड स्थित एक होटल में कांग्रेस बसपा और भाकियू की संयुक्त बैठक हुई। जिसके बाद प्रेसवार्ता की गई। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं पूर्व विधायक इमरान मसूद ने कहा कि उन्होंने भाजपा को हराने के लिए सभी दलों को एक साथ आने का न्यौता दिया था। कांग्रेस के पास अपना कोई उम्मीदवार नहीं था। जिस कारण उन्होंने बसपा का साथ देने का निर्णय लिया है। बसपा द्वारा नवीन खटना की मां शिमला देवी को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। इमरान मसूद ने कहा कि बसपा, कांग्रेस के एक साथ आने से उनके पास अब पर्याप्त संख्या बल हो गया है। उन्होंने 34 सदस्य होने का दावा किया है।

वहीं, बसपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक जगपाल दास का कहना है कि बसपा के पास इतने सदस्य नहीं थे कि वह अपने दम पर चुनाव लड़ सके। जिस कारण इस बार कांग्रेस को साथ लेकर जिला पंचायत के चुनाव मैदान में उतरी है। अब उनके पास पर्याप्त संख्या बल है और जीत उनकी होगी। इस दौरान कांग्रेस विधायक नरेश सैनी, मसूद अख्तर, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मुजफ्फर अली, बसपा के पूर्व विधायक महीपाल माजरा, नवीन खटना, भाकियू के प्रदेश उपाध्यक्ष विनय चौधरी भी मौजूद रहे।

संयुक्त बैठक से सपा ने बनाई दूरी, चर्चाएं तेज

अब तक कांग्रेस सपा द्वारा एक साथ संयुक्त मोर्चा बनाए जाने की घोषणा होती रही है, लेकिन, मंगलवार को बसपा और कांग्रेस की साझा बैठक हुई तो सपा ने इससे दूरी बना ली। बैठक में सपा जिलाध्यक्ष नहीं पहुंचे। जिस कारण सियासी माहौल में यह चर्चाएं तेज हो गई हैं।

संबंधित खबरें