DA Image
Sunday, December 5, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश सहारनपुरदेवोत्थान एकादशी : सड़कों से मंडप तक बैंड-बाजा बारात की धूम

देवोत्थान एकादशी : सड़कों से मंडप तक बैंड-बाजा बारात की धूम

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 11:10 PM
देवोत्थान एकादशी : सड़कों से मंडप तक बैंड-बाजा बारात की धूम

रविवार को देवोत्थान एकादशी पर शहर से लेकर देहात तक बैंडबाजा बारात की धूम रही। सुबह से ही सड़कों पर बारातों के निकलने का सिलसिला शुरु हो गया था। जिले के 1800 बैक्वेंट, मेरिज हॉल व होटल पूरी तरह से बुक रहे और दो हजार जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। ट्रेफिक व्यवस्था भी चरमरा गई थी। रात में दिल्ली रोड, अंबाला रोड व देहरादून रोड पर बारातियों की भीड़ रही।

देवोत्थान एकादशी पर अबूझ साया होने के कारण खूब शादियां हुई। शादियों का सिलसिला सुबह ही शुरू हो गया था। शादियों के लिए पहले से ही मैरिज हॉल, बैंक्वेट हॉल व होटलों की बुकिंग की गई थी। हांफ रहे मैरिज इंडस्ट्रीज को करोड़ों के कारोबार को गति मिली है। शहर के सभी बैंड, घोड़ी, बग्गी वाले बुक रहे। सुबह से ही शहर की हर प्रमुख सड़क और गली में शुरू हुआ बारात निकलने का सिलसिला देर रात्रि तक जारी रहा। शहर का कोई भी बैंक्वेट हॉल या लॉन या होटल खाली नहीं था, जहां शादी नहीं हुई हो। लोगों ने महीनों पहले से ही यहां की बुकिंग करा रखी थी। सबसे ज्यादा शादियां रात नौ बजे वाली शिफ्ट में हुई। बैक्वेंट हॉल व होटलों के बाहर पार्किंग की उचित व्यवस्था न होने के कारण सडको पर गाडियों का जमावडा लगा रहा जिससे कई बार जाम की स्थिति भी बन गई।

-मैरिज इंडस्ट्रीज का हुआ करोड़ों का कारोबार

कोरोना के चलते ठप पडे मैरिज इंस्ट्रीज के कारोबार को सहालग के पहले ही दिन गति मिल गई। जिले के 1800 बैंक्वेंट, मैरिज हॉल व होटल में करोडो रुपये का कारोबार हुआ। कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में स्थिति और भी बेहतर हो जाएगी।

-शहर में रहा पंडितों का टोटा

रविवार को सबसे ज्यादा कमी लोगों को शहर में पंडितों की महसूस हुई। जिन लोगों ने पहले से ही पंडितों की भी बुकिंग कर रखी थी। उनके लिए कोई विशेष परेशानी नहीं हुई, लेकिन अन्य लोग इसकी व्यवस्था में काफी परेशान रहे। विवाह समारोह स्थल के अलावा गली मोहल्लों में भी करीब पांच सौ शादियां हुई। जिस कारण पंडितों की खासी कमी रही।

- बैंड, बग्गी, घोड़ी और ढोल वालें सभी रहे बुक

बडे सहालग के चलते बैंड, बग्गी, घोड़ी और सभी ढोल वाले बुक रहे। एक साथ कई बुकिंग पकड़ने के चक्कर में कही बग्गी वाला लेट हुआ कही घोडी समय से नहीं पहुंची जिसके चलते शादी वालों को परेशानी का सामना भी करना पडा।

-कहीं हुआ पालन तो कहीं अवहेलना

शादियों में कहीं तो कोविड गाइडलाइन का पालन हुआ तो कही धज्जियां उड़ाई गई। दरअसल होटल, बैंक्वेट हॉल और मैरिजहॉल में थर्मल स्कैनिंग और हाथों को सैनिटाइज किया गया। वहीं खानापान को लेकर भी नियमों का पालन किया। बिना मास्क के मेहमानों को प्रवेश नहीं दिया गया। वहीं गली मोहल्लों में होने वाली शादियों को गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया। कई जगह मेहमान बिना मास्क के भी नजर आए।

-दिल्ली रोड पर हालात रहे खराब

दिल्ली रोड पर रामपुर मनिहारान तक करीब 20 से ज्यादा बैक्वेंट, मेरिज हॉल और होटल है। दिल्ली रोड पर शादियों के चलते बैंक्वेट हॉल के बाहर गाडियों की लाइनें लगी रही। बैंक्वेंट हॉल व होटल संचालकों की ओर से दिन और रात में अलग-अलग शादियों की व्यवस्था की गई थी। बैक्वेंट हॉल और होटलों के बाहर पार्किंग की उचित व्यवस्था न होने के कारण सड़कों पर गाड़ियों का जमावड़ा लगा रहा जिससे कई बार जाम की स्थिति भी बन गई। वहीं रात को दिन की अपेक्षा ज्यादा हुई। हर कोई तैयार होकर शादी में जाता हुआ दिखाई दे रहा था।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें