ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश सहारनपुरडिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने वर्चुअल तरीके से किया मंडल की 800 करोड़ की 288 योजनाओं का शिलान्यास

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने वर्चुअल तरीके से किया मंडल की 800 करोड़ की 288 योजनाओं का शिलान्यास

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने वर्चुअल तरीके से किया मंडल की 800 करोड़ की 288 योजनाओं का...

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने वर्चुअल तरीके से किया मंडल की 800 करोड़ की 288 योजनाओं का शिलान्यास
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरFri, 23 Jul 2021 02:10 PM
ऐप पर पढ़ें

शुक्रवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का सहारनपुर दौरा अचानक निरस्त हो जिस। इस कारण उन्होंने लखनऊ से ही वर्चुअल तरीके से सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली की विकास योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। साथ ही जिले के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित भी किया। उन्होंने जिले के लिए यमुनानगर से सहारनपुर को जोड़ने के लिए एक पुल का निर्माण करने की घोषणा की। साथ ही कार्यकर्ताओ को विधानसभा चुनाव में जीतने के लिए काम करने आह्वान किया।

शुक्रवार को सहारनपुर में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को आना था। उसके लिए पूरी तैयारी भी कर ली गई थीं। लेकिन राजकीय विमान में अचानक तकनीकी खामी के कारण वह सहारनपुर नही आ सके। जिसके बाद उन्होंने वर्चुअल माध्यम से ही कार्यक्रम को सम्बोधितत किया। डिप्टी सीएम ने कहा कि उनकी इच्छा थी कि वह माता शाकुम्भरी देवी के दर्शन करें, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। इसके बाद उन्होंने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र पर कार्य करती है। प्रदेश में पिछले 4 साल में भाजपा की सरकार ने विकास की गंगा बहाई है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में भेदभाव होता था। लेकिन भाजपा सरकार में किसी कार्यकर्ता के साथ भेदभाव नही हो रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने सहारनपुर से हरियाणा को जोड़ने के लिए सोंधेबांस में यमुना नदी और पुल बनाने की घोषणा की। साथ ही कहा कहा कि कार्यकर्ता का सम्मान पार्टी का सम्मान है। अधिकारी हर कार्यकर्ता की बात को सरकार का निर्देश मानकर काम करें। उन्होंने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत के लिए कार्यकर्ताओ को अभी से तैयारी करने को कहा। डिप्टी सीएम ने कहा कि सहारनपुर से सोनभद्र तक भाजपा की आंधी है। विपक्षी दल इस आंधी से डरे हुए हैं। जिस कारण वे तरह तरह के परपंच अपना रहे हैं।

epaper