DA Image
2 जुलाई, 2020|12:36|IST

अगली स्टोरी

अधिकारों पर कैंची चलने से भड़के कोऑपरेटिव चेयरमैन

default image

अधिकारों पर कैंची चलने से डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक चेयरमैन सहित पूरा बोर्ड नाराज हो उठा हैं और ब्लाक प्रमुखों की तर्ज पर अधिकार बहाली के लिए शासन में गुहार लगाने की तैयारी की जा रही हैं। खास है कि ब्लाक प्रमुखों के अधिकार बहाल हो गए हैं।

मामला कॉपरेटिव समितियों के कैडर सचिवों के ट्रांसफर पोस्टिंग आदि से जुड़ा हैं। कैडर सचिवों के ट्रांसफर पोस्टिंग और गड़बड़ी पर अनुशासनात्मक कार्रवाई का अधिकार अभी तक चेयरमेन की अध्यक्षता वाले बोर्ड के पास था। सपा सरकार में बोर्ड को यह अधिकार मिले थे, लेकिन वर्तमान सरकार ने इसे बदलकर अब, एआर कोऑपरेटिव की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय समिति को यह अधिकार दे दिया हैं। इस पर चेयरमैन व बोर्ड सदस्य भड़क उठे हैं।

डिस्टिक कोऑपरेटिव बैंक चेयरमैन राजपाल सिंह ने बताया कि एआर की अध्यक्षता वाली कमेटी में कोई जनप्रतिनिधि शामिल नहीं है जो गलत है। आज-कल में लखनऊ जाकर अधिकारों में बदलाव के खिलाफ मंत्री आदि से मिलकर सामूहिक विरोध दर्ज कराया जाएगा। दूसरी ओर, कॉपरेटिव से जुड़े सूत्रों का कहना हैं कि अनुशासनात्मक कार्रवाई का अधिकार बोर्ड को हैं, लेकिन जवाबदेही अधिकारियों की होती हैं जिससे दिक्कतें थी।

खास बात यह है कि एआर कोऑपरेटिव की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय कमेटी में एडीसीओ को सदस्य सचिव बनाया गया हैं। जबकि बैंक (डीसीबी) सचिव, ज़िला लेखा परीक्षा अधिकारी व सीडीओ द्वारा नामित ज़िला स्तरीय अधिकारी बतौर सदस्य कमेटी का हिस्सा होंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Cooperative chairman agitated by walking scissors on rights