ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश सहारनपुरबजट में अटका पहाड़ीपुर कालूवाला के संस्कृत विद्यालय का निर्माण

बजट में अटका पहाड़ीपुर कालूवाला के संस्कृत विद्यालय का निर्माण

सहारनपुर। जिले में संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए राजकीय संस्कृत विद्यालय खोलने की कवायद की गई थी। इसके लिए बाकायदा मुजफ्फराबाद ब्लाक में जमीन...

बजट में अटका पहाड़ीपुर कालूवाला के संस्कृत विद्यालय का निर्माण
हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरMon, 27 May 2024 11:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सहारनपुर। जिले में संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए राजकीय संस्कृत विद्यालय खोलने की कवायद की गई थी। इसके लिए बाकायदा मुजफ्फराबाद ब्लाक में जमीन को भी चिन्हित कर लिया गया था। विभाग ने प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा दिया था। प्रस्ताव को मंजूरी भी मिल गई थी। लेकिन इन सब कसरत के बाद भी अभी तक विद्यालय के निर्माण का कार्य शुरु नहीं हो पाया है। कारण शासन से बजट का ना आना है।

शासन द्वारा देव भाषा संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश भर के चिन्हित जिलों में राजकीय संस्कृत विद्यालय खोलने की योजना शुरु की गई थी। इसके पीछे अधिक से अधिक छात्रों को संस्कृत भाषा के प्रति आकर्षित करना था। साथ ही मंडल स्तर पर भी एक आवासीय संस्कृत विद्यालय खोलने की योजना शासन की है। मुजफ्फराबाद ब्लाक के पहाडीपुर कालूवाला क्षेत्र में राजकीय संस्कृत विद्यालय बनाने का प्रस्ताव रखा गया था। इसके बाद 8.67 हेक्टेयर जमीन को चिन्हित कर लिया गया था। विभाग ने 25 जनवरी 2023 को भूमि को चिन्हित कर अभिनव विद्यालय के नाम से शासन को प्रस्ताव भेजा था। जिसे मंजूरी भी मिल गई थी। लेकिन अभी तक शासन से पैसा जारी ना होने के चलते निर्माण कार्यों शुरु नहीं हो पाया है। स्कूल में पू्र्व से उत्तर मध्यमा तक की पढ़ाई कराई जाएगी। वर्तमान में सहारनपुर जिले में तीन संस्कृत विद्यालय संचालित हो रहे हैं। जिनमें करीब 250 छात्र अध्ययनरत है। इनमें एक विद्यालय बेहट रोड,एक मां शाकुंभरी व एक विद्यालय देवबंद में संचालित है। बेहट रोड व देवंबद में संचालित महाविद्यालय भी है मतलब यहां पर छात्रों 12वीं के साथ-साथ शास्त्री व आचार्य की पढ़ाई होती है।

0-वर्जन

-मुजफ्फराबाद में राजकीय संस्कृत विद्यालय खोले जाने का प्रस्ताव है। लेकिन अभी तक बजट प्राप्त नहीं हुआ है। इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

-विनोद कुमार,डीआईओएस।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।