DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सहारनपुर  ›  विश्व ख्याति प्राप्त फल पट्टी बेहट पर मंडरा रहे घाटे के बादल

सहारनपुरविश्व ख्याति प्राप्त फल पट्टी बेहट पर मंडरा रहे घाटे के बादल

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:20 PM
विश्व ख्याति प्राप्त फल पट्टी बेहट पर मंडरा रहे घाटे के बादल

विश्व ख्याति प्राप्त फल पट्टी बेहट पर घाटे के बादल मंडरा रहे है। पिछले दो दिन से लगातार आ रहे तेज अंधड़ से फल पट्टी को भारी क्षति पहुंची है। सोमवार की देर रात आए तूफान ने फल पट्टी क्षेत्र में करीब 40 प्रतिशत आम की फसल को बर्बाद कर दिया है। जिससे बागवानी एवं ठेकेदारों के चेहरों पर चिंता की लकीरें साफ नजर आ रही हैं।

मौसम के बदलते मिजाज ने बागवानों की धड़कनें बढ़ा दी है। पिछले दो दिन से रुक रुक कर आ रही तेज हवाओं ने ठेकेदार एवं बागवनों के अरमानों पर पानी फेर दिया। रविवार की देर रात आए तेज अंधड़ एवं बारिश ने तो इस कदर कहर बरपाया की गांव साढौली भूड़ निवासी एक दंपत्ति की मौत हो गई थी और फल पट्टी में करीब 20% आम की फसल नष्ट हो चुकी थी। सोमवार की देर रात फिर आए तेज अंधड़ ने अपना रूद्र रूप दिखाया। जिससे फल पट्टी क्षेत्र के गांव मरवा, साढाैली कदीम, सलेमपुर गदा, कलसिया, रवासौली, उसंड आदि की गांव में आम की फसल में 40% नुकसान हुआ है। राज सिंह राणा, बबलू सैनी, इसरार, ताहिर आदि बागवान एवं ठेकेदारों के कहना है कि 2 साल से लगातार लगाए जा रहे लॉकडाउन अर्थव्यवस्था चौपट होती जा रही है साथ ही कुदरती कहर ने भी सभी को रुला कर रख दिया है विदेश में अपनी पहचान बनाने वाले फलों के राजा आम शायद ही इस बार विदेशियों को अपने स्वाद का मजा दे सके। फल पट्टी क्षेत्र में होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए सरकार से कोई सहायता नहीं मिलती है। जिसके चलते फल पट्टी क्षेत्र के बागवान एवं ठेकेदार लगातार घाटे की ओर जा रहे हैं।

संबंधित खबरें