DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधिकारियों की अव्यवस्था के बीच फंसा रहा शहर

अधिकारियों की अव्यवस्था के बीच फंसा रहा शहर

मंगलवार को सहारनपुर-दिल्ली फोरलेन हाईवे के शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान पुलिस की अव्यवस्था खुलकर सामने आई। मुख्यमंत्री के आने से पांच घंटे पहले से ही आधे शहर को पूरी तरह से सील कर दिया गया। जो घर में थे उन्हें घर में ही बंद करा दिया। जो बाहर थे वे अपने घरों तक नहीं पहुंच पाए। पुलिस की व्यवस्था पर लोगों ने कड़ारोष व्यक्त किया।

मंगलवार को दिल्ली रोड साउथ सिटी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी फोरलेन हाइवे का शिलान्यास करने के लिए सहारनपुर पहुंचे थे। पिछले कई दिनों से इसकी तैयारी चल रही थी। मंगलवार को करीब चार बजे योगी आदित्यनाथ सहारनपुर पहुंचे, लेकिन इससे पांच घंटे पहले की पुलिस ने कार्यक्रम स्थल के आस-पास के क्षेत्र को सीलबंद कर दिया। सिविल लाइन तिराहा, पुलिस लाइन गेट नंबर एक, आवास विकासा तिराहा, दिल्ली रोडपर सक्षम हॉस्पिटल तिराहा हसनपुर चौकी पर बैरियर लगाए गये थे। आवास विकास, पूराना आवास विकास किशोरबाग, प्रद्युमन नगर, न्यू आवास विकास, सहित आधा दर्जन कालोनियों में पूरी तरह से सील कर दिया गया। जिससे लोग कैद होकर रहे गये। सुबह की कलेक्ट्रेट तिराहे पर जाम की स्थिति बन गई। दिनभर लोग जाम की स्थिति में बनी रही। हैरत की बात तो यह है कि लोगों को अपने घरों तक में जाने के लिए पुलिस की मिन्नतें करनी पड़ी। पुलिस की इस व्यवस्था पर लोगों में रोष व्याप्त नजर आया। लोगों का कहना है कि जब मुख्यमंत्री को शाम चार बजे आना था तो 11 बजे रास्ते क्यों बंद किये गये।

लोगों ने कहा कार्यक्रम शहर से बाहर होना चाहिए फोरलेन हाईवे शिलान्यस कार्यक्रम के समय लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। शिवविहार निवासी मुकेश सिंह का कहना है कि इस तरह के वीआईपी कार्यक्रम शहर से बाहर ही होने चाहिए। शहर के अंदर कार्यक्रम होने से लोगों को दिक्कतें होगी। वीआईपी को भी लोगों की दिक्कतों को देखना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:City trapped between disorder of officials