DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर की रासुका की अवधि तीन माह के लिए बढ़ी

भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर की रासुका की अवधि तीन माह के लिए बढ़ी

भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की अवधि को तीन माह के लिए बढ़ा दिया गया है। रासुका की अवधि दो मई को खत्म होने वाली थी, लेकिन इससे पहले ही अवधि को तीन माह के लिए बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। सहारनपुर हिंसा के आरोप में जेल में बंद चंद्रशेखर रावण के खिलाफ प्रशासन ने दो नवंबर को रासुका की कार्रवाई की थी।

सहारनपुर हिंसा में जेल में बंद भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर रावण के खिलाफ पुलिस ने दो नवंबर को रासुका की कार्रवाई की थी। नौ मई 2017 को सहारनपुर में हुई हिंसा के बाद चंद्रशेखर सहित भीम आर्मी के पदाधिकारियों के खिलाफ दो दर्जन से अधिक मुकदमें किये गये थे।

पुलिस ने आठ जून का चंद्रशेखर को डलहौजी हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया था। जिसके बाद से ही चंद्रशेखर रावण जेल में बंद है। नवंबर को रावण को सभी मामलों में कोर्ट से जमानत मिल गई थी, लेकिन पुलिस ने उसके खिलाफ रासुका की कार्रवाई की थी।

इसके तीन माह बाद फरवरी में रासुका की कार्रवाई को तीन माह के लिए बढ़ा दिया गया था। दो मई को रावण के खिलाफ रासुका की अवधि समाप्त होने वाली थी, लेकिन इससे पहले ही शासन ने रासुका की अवधि को एक बार फिर तीन माह के लिए बढ़ा दिया है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि रासुका की कार्रवाई को तीन माह के लिए बढ़ दिया गया है।

हाईकोर्ट से भी नहीं मिली थी राहत चंद्रशेखर रावण ने रासुका के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी, लेकिन रावण को होईकोर्ट से भी राहत नहीं मिली थी। हाईकोर्ट ने रासुका के खिलाफ दाखिल की गई याचिका को खारिज कर दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bhima Army founder Chandra Shekhar's Rasuka duration increased for three months