DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आशुतोष भगवान का दिन आज, मंदिरों में गूजेंगा बम बम भोले

आशुतोष भगवान का दिन आज, मंदिरों में गूजेंगा बम बम भोले

तुरंत प्रसन्न होने वाले महादेव भगवान शिव का सावन के पहले सोमवार को भव्य अभिषेक करने की पूरी तैयारी है। इसके लिए शिवालयों को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। श्रद्घालुओं को भीड़ होने पर भी अभिषेक में कोई परेशानी नहीं हो इसके पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

उधर सोमवार को तड़के से ही शहर के भूतेश्वर महादेव और बागेश्वर महादेव समेत सभी मंदिरों में जलाभिषेक शुरू हो गया। भगवान शंकर को अतिप्रिय माने जाने वाले सावन के महीने को लेकर वैसे तो सभी मंदिरों में शिवालयों को सजाया गया है, लेकिन शहर के अति प्राचीन व लोगों की आस्था के केंद्र माने जाने वाले भूतेश्वर मंदिर तथा बागेश्वर मंदिर के साथ औद्यडदानी मंदिर को विशेष रूप से भव्य रूप देने की कवायद की गई। मंदिरों को भव्य तरीके से सजाया गया और आज शिवालयों में बम भोले के जयकारे गूंजेगे। मंदिरो में विशेष रुप से जलाभिषेक की व्यवस्था की गई और बैरिकेडिंग लगाई गई है। पूरे सावन महीने में शहर के प्रमुख मंदिरों में श्रद्घालुओं का तांता लगा रहता है। मंदिरों में बनी भगवान शंकर की प्रतिमा को भी जल से स्नान कराकर विशेष श्रृंगार किया गया है। वहीं नारायणपुरी मंदिर और शिव मंदिर को लड़ी व फूलों से सजाया गया है। इसके अलावा शहर के कई अन्य शिव मंदिरों में शिवजी के विवाह की कथा, भजन कीर्तन व रात्रि जागरण आयोजित करने की तैयारी की गई है।

दूध का विशेष इंतजाम सावन के महीने में विशेषतौर से सोमवार को भगवान शिव के अभिषेक के लिए दूध की बढ़ी मांग को देखते हुए दुग्ध विक्रेताओं ने भी अलग से इंतजाम किए हैं। दूध विक्रेता संजीव ने बताया कि सोमवार को हर बार दूध की मांग ज्यादा होती है। कल सावन का पहला सोमवार है इसलिए मांग कुछ खास रहेगी।

सोमवार व्रत श्रावण महीने में सोमवार को जो व्रत रखा जाता है, उसे सावन का सोमवार व्रत कहते हैं। वहीं सावन के पहले सोमवार से 16 सोमवार तक व्रत रखने को सोलह सोमवार व्रत कहते हैं और प्रदोष व्रत भगवान शिव और मां पार्वती का आशीर्वाद पाने के प्रदोष के दिन किया जाता है।

व्रत और पूजन विधिआचार्य अमित भारद्वाज ने बताया कि सावन के सोमवार मे शिव की अराधना करने से सभी मनोकमना पूर्ण होती है। महिलाओं के व्रत रखने से संतान प्राप्ति होती है। उन्होंने बताया कि सुबह-सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि कर स्वच्छ कपड़े पहनें। पूजा स्थान की सफाई करें। आसपास कोई मंदिर है तो वहां जाकर भोलेनाथ के शिवलिंग पर जल व दूध अर्पित करें। ओम नम: शिवाय मंत्र का उच्चारण करते हुए भगवान शंकर को सुपारी, पंच अमृत, नारियल व बेल की पत्तियां चढ़ाएं।

सावन में महत्वपूर्ण दिन30 जुलाई सावन का पहला सोमवार व्रत,6 अगस्त सावन सोमवार व्रत,11 अगस्त हरियाली अमावस्या,13 अगस्त सावन सोमवार व्रत और हरियाली तीज,20 अगस्त सावन सोमवार व्रत26 अगस्त सावन माह का अंतिम दिन।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ashutosh Bhagwan's day today, bombs in temples will be bomb blasts