DA Image
19 सितम्बर, 2020|9:54|IST

अगली स्टोरी

90 हजार कुंतल क्षमता वाली बजाज गांगनौली मिल ने किया पेराई सत्र का शुभारंभ

90 हजार कुंतल क्षमता वाली बजाज गांगनौली मिल ने किया पेराई सत्र का शुभारंभ

90 हजार कुंतल प्रतिदिन की क्षमता वाली बजाज समूह की गांगनौली चीनी मिल ने गुरुवार को मंत्रोच्चार के साथ नए पेराई सत्र 2019-20 का शुभारंभ किया।

जिला गन्ना अधिकारी केएम मणि त्रिपाठी, मिल यूनिट हेड आरके तिवारी व स्थानीय किसानों व नेताओं ने सामूहिक तौर से चेन में गन्ना डालकर चीनी मिल का संचालन शुरू कराया। गुरुवार सुबह करीब दस बजे गांगनौली बजाज शुगर मिल में पंडित शिवकुमार नें वैदिक मंत्रोच्चार से यज्ञ संपन्न कराया जिसमें यूनिट हैड आरके तिवारी, चौधरी बख्तावर सिंह, चौधरी समरपाल, सुभाष प्रधान, योगेंद्र राणा आदि नें हवन में आहुति दी। इसके साथ चीनी मिल में सबसे पहले गन्ना लेकर पहुंचे किसान सोनू धीमान को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया और तौल केंद्र की शुरूआत की। उसके बाद सभी ने एक साथ चेन में गन्ना डालकर पेराई सत्र का विधिवत शुभारंभ किया। इस दौरान स्थानीय किसानों व नेताओं में अनिल चौहान, भगत सिंह वर्मा, शिवकुमार पाठक, चौ. चरण सिंह, अजयपाल सिंह, सोनवीर मलिक, अरुण राणा, कुशल पाल सिंह, रणवीर सिंह, रामकुमार प्रधान आदि शामिल रहे।

जिला गन्ना अधिकारी केएम मणि त्रिपाठी ने बताया कि जिले की बजाज गांगनोली मिल गुरुवार को सबसे पहले चल गई हैं जबकि बाकी की पांच चीनी मिल भी नवंबर के पहले व दूसरे हफ्ते तक चल जाएंगी। त्रिपाठी ने बताया कि नानौता व सरसावा कॉपरेटिव 6 नवंबर को चलेगी जबकि निजी क्षेत्र की त्रिवेणी देवबंद 7 नवंबर तथा उत्तम शेरमऊ मिल 10 नवंबर को पेराई शुरू करेगी। गागलहेडी दया शुगर मिल ने अभी फाइनल कार्यक्रम नहीं दिया है।

चीनी मिलें चलना शुरू होने के साथ ही किसानों ने बकाया भुगतान कराने और नए सत्र के लिए तत्काल गन्ना भाव घोषित करने की मांग की है। किसान नेता अरूण राणा ने कहा कि प्रदेश सरकार तत्काल गन्ना मूल्य घोषित करने के साथ ही पुराने बकाया का मय सूद भुगतान कराना सुनिश्चित करें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: 90 thousand quintal capacity Bajaj Gangnauli mill inaugurates crushing session