DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सहारनपुर  ›  राफेल डील में हुई 8.62 करोड़ की दलाली, इस्तीफा दें वित्त मंत्री : प्रमोद तिवारी

सहारनपुरराफेल डील में हुई 8.62 करोड़ की दलाली, इस्तीफा दें वित्त मंत्री : प्रमोद तिवारी

हिन्दुस्तान टीम,सहारनपुरPublished By: Newswrap
Sat, 10 Apr 2021 03:33 AM
राफेल डील में हुई 8.62 करोड़ की दलाली, इस्तीफा दें वित्त मंत्री : प्रमोद तिवारी

सहारनपुर। कांग्रेस केंद्रीय वर्किंग कमेटी के सदस्य सांसद प्रमोद तिवारी ने आरोप लगाए है कि राफेल सौदे में करोड़ा की दलाली हुई थी। जबकि रक्षा मंत्री ने सदन में कहा था कि राफेल की डील में कोई बिचौलिया नहीं हैं। ऐसे में तत्कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा । कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार बनती है तो 24 घंटे में तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएंगे।

राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी शुक्रवार को कांग्रेस नेता पूर्व विधायक इमरान मसूद की बेटी की शादी में शामिल होने के लिए सहारनपुर पहुंचे थे। सहारनपुर में विधायक मसूद अख्तर के आवास पर उन्होंने प्रेसवार्ता की। उनका आरोप लगाया कि भारत के लिए राफेल बनाने वाली कंपनी दसाल्ट एविएशन के खातों के ऑडिट में एएफए ने पाया कि करीब 11 लाख यूरो करीब 8.62 करोड़ रुपये दलाली के रूप में दिए गए थे। जिस व्यक्ति को यह रकम दी गई है, वह अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में जेल में बंद है। प्रमोद तिवारी का कहना है कि 2017 में जब यह सौदा हुआ था तो देश की तत्कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि सौदा सीधे फ्रांस की सरकार के बीच हुआ है। इसमें कोई भी बिचौलिया नहीं है। अब कथित तौर पर दलाली का खुलासा होने पर दोनों नेताओं का झूठ पकड़ा गया है। जिस कारण नैतिकता के आधार पर निर्मला सीतारमण को इस्तीफा दे देना चाहिए। साथ ही इस पूरे मामले की जांच के लिए एक कमेटी बनाई जाए तो सुप्रीम कोर्ट के निर्देशन में जांच करें।

24 घंटे में वापस होंगे कृषि कानून

सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि देश में 135 दिनों से किसानों का आंदोलन चल रहा है। प्रधानमंत्री बांग्लादेश तक पहुंच गए। लेकिन, पीएम और सरकार के किसी मंत्री ने किसानों से बात नहीं की। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस की सरकार बनी तो 24 घंटे में तीनो कृषि कानून वापस होंगे। इसके साथ ही उन्होंने पंचायत चुनाव पर भी बात की। उन्होंने कहा कि देश में पंचायती राज कानून पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की देन है। जिस कारण पंचायत राज पर सबसे पहला हक कांग्रेस पार्टी का है।

सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि देश इस समय कोरोना महामारी से जूझ रहा है। लेकिन, केन्द्र सरकार के मंत्री बंगाल चुनाव में व्यस्त हैं। लोगों को समझाया जा रहा है कि दो गज दूरी और मॉस्क है जरूरी, लेकिन बंगाल में रैलियों में भीड़ एकत्र की जा रही है। प्रमोद तिवारी का भाजपा सरकार हर मोर्च पर फैल हो चुकी है और पांचों राज्यों में चुनाव हार रही है। इस मौके पर विधायक मसूद अख्तर, जिलाध्यक्ष मुजफ्फर अली, जावेद साबरी आदि मौजूद रहे।

संबंधित खबरें