ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश रामपुरयूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्रों पर दूसरे स्कूलों का होगा 50 फीसदी स्टाफ

यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्रों पर दूसरे स्कूलों का होगा 50 फीसदी स्टाफ

यूपी बोर्ड परीक्षा की तैयारियां चल रही हैं। माध्यमिक शिक्षा परिषद ने परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन सूची जारी कर दी हैं। परीक्षा के दौरान केंद्रों पर 50...

यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्रों पर दूसरे स्कूलों का होगा 50 फीसदी स्टाफ
हिन्दुस्तान टीम,रामपुरFri, 08 Dec 2023 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी बोर्ड परीक्षा की तैयारियां चल रही हैं। माध्यमिक शिक्षा परिषद ने परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन सूची जारी कर दी हैं। परीक्षा के दौरान केंद्रों पर 50 फीसदी स्टाफ दूसरे विद्यालयों से भेजा जाएगा। जिससे कि नकलविहीन परीक्षा संपन्न कराई जा सके। वहीं, शासन स्तर से ही परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थी आवंटित किए जाएंगे।
माध्यमिक शिक्षा परिषद की आगामी हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं के लिए तैयारियों को तेज कर दिया गया है। कुछ समय पहले बोर्ड ने विद्यालय संचालकों से वेबसाइट पर समस्त सूचनाओं को मांगा था। जिनका जिला विद्यालय निरीक्षक स्तर से सत्यापन कराया गया। इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा में करीब 47 हजार छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। परीक्षाओं को शांतिपूर्ण व नकलविहीन कराए जाने की कवायद बोर्ड ने शुरू कर दी है। बोर्ड द्वारा परीक्षा केंद्रों की सूची जारी की गई है। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे व वाइस रिकॉर्डर के जरिये निगरानी रखी जाएगी। जिले के माध्यमिक विद्यालयों में दो से नौ फरवरी के बीच इंटरमीडिएट की प्रयोगात्मक परीक्षाओं को कराया जाएगा। परीक्षा केंद्रों पर शासन स्तर से परीक्षार्थियों को आवंटित किया जाएगा। शासन से जारी निर्देशों में कहा गया है कि परीक्षा केंद्रों पर 50 फीसदी यानी आधा स्टाफ दूसरे स्कूलों का होगा। परीक्षा केंद्रों पर 24 घंटे प्रश्न पत्र सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रखे जाएंगे। साथ ही उसकी निगरानी कंट्रोल रूम के जरिये की जाएगी। परीक्षा केंद्र के परीक्षा कक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग कम से कम छह माह तक सुरक्षित रखनी होगी। जिसे आवश्यकता पड़ने पर परिषद को उपलब्ध कराना होगा। जिला विद्यालय निरीक्षक मुन्ने अली ने बताया कि परीक्षा केंद्रों की सूची और टाइम टेबल जारी हो चुका है। शासन के निर्देशानुसार बोर्ड परीक्षा कराई जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें