DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गन्ना भुगतान कराने की मांग,दिया ज्ञापन

मंगलवार को भाकियू अम्बावता ने बैठक करके शासन-प्रशासन पर गलत नीतियों के कारण किसानों का शोषण करने का आरोप लगाया है।

किसानों का कहना है कि,न तो चीनी मिलें किसानों का भुगतान कर रहीं हैं और नही उन्हें कोई अन्य सुविधा दी जा रही है।यहां तक बिजली विभाग भी किसानों के साथ अपनी मनमानी पर उतारू है, जिस कारण देश का अन्नदाता परेशान है।

नगर में नैनीताल हाईवे पर स्थित शनिवार का बाजार में सोमवार की दोपहर भाकियू अम्बावता के पदाधिकारियों द्वारा एक किसान पंचायत का आयोजन किया गया,जिसमें आसपास के कई गांवो के दर्जनों किसान मौजूद रहे।बैठक के दौरान जिलाध्यक्ष सलीम वारसी ने आरोप लगाते हुए कहा देश में किसानों के साथ हर मोर्चे पर अन्याय हो रहा है और किसानों की समस्याओं पर बिलकुल भी ध्यान नहीं दिया जा रहा।जिसको किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।उन्होंने प्रशासन पर निशाना साधते हुए कहा कि,जो अधिकारी किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं कर सकतें उन्हें आलीशान दफ्तरों में बैठने का कोई अधिकार नहीं है।तथा गन्ने की आगामी तौल के लिए अधिकारियों ने सांठगांठ कर अधिकतर पर्चियां बिचौलियों को देनीं शुरू कर दीं है।ताकि फसल के समय बिचौलियों के साथ मिलकर गन्ना विभाग से जुड़े अधिकारी किसानों से तौल में दलाली खा सकें।इसके बाद सभी किसान नारेबाजी करते हुए जुलुस की शक्ल में तहसील परिसर पहुंच गए और वहां मौजूद उपजिलाधिकारी विजय प्रताप सिंह को सात सुत्रिये ज्ञापन सौंपकर समस्याओं के निस्तारण की मांग की।इस अवसर पर आसिम रजा,मुबारक हसन,वाहिद खां अख्तर अली,रईस अहमद,बलजीत सिंह,सुखदेव सिंह,कृपाल सिंह,खलील अहमद सहित आदि किसान रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sugar cane proice