Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश रामपुरछात्राओं को बाईपास पर उतारा, हंगामा

छात्राओं को बाईपास पर उतारा, हंगामा

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 11:20 PM
छात्राओं को बाईपास पर उतारा, हंगामा

रोडवेज परिचालक द्वारा बरेली से कसबे में आ रही छात्राओं को बाईपास पर उतारने को लेकर हंगामा खड़ा हो गया। विरोध करने पर परिचालक ने धमकाया भी। छात्राओं ने अपने परिजनों को फोन किया और वह मौके पर पहुंच गए और हंगामा शुरू हो गया। परिजनों को देख बस चालक बस लेकर कोतवाली आ गया। जहां व्यापार मंडल द्वारा गंभीर आरोप परिवहन निगम पर लगाए गए।

मामला मंगलवार की शाम चार बजे का है। जहां नगर निवासी कुछ छात्राएं बरेली से नगर आ रही थी। वह बरेली से दिल्ली को जा रही मुजफ्फरनगर डिपो की रोडवेज बस में सवार हो गयी। बस में बैठने के बाद कंडक्टर ने युवतियों को बरेली से मिलक तक का टिकट काट कर दिया। लेकिन टिकट काटने के बाद रोडवेज परिचालक बस नगर में अंदर लाने से मना कर दिया और नगर स्थित क्योरार बाईपास पहुंचने पर कंडक्टर ने युवतियों को उतर जाने के लिए कहा। युवतियों ने कंडक्टर से कहा कि रोडवेज बस अंदर ले चले। लेकिन कंडक्टर तैयार नहीं हुआ। आरोप है कि परिचालक ने अंदर न ले जाने के बदले छात्राओं को धमकाया, जिस पर छात्राओं ने अपने परिजनों को फोन कर सूचना दी। कुछ ही देर में उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के पदाधिकारी और परिजन मौके पर पहुंच गए और रोडवेज बस को नियमों का हवाला देते हुए नगर में जाने के लिए कहा। उस पर परिचालक ने अभद्रता करते हुए अंदर जाने से मना कर दिया। परिजनों के भड़कने पर रोडवेज चालक बस को नगर के अंदर ले आया और कोतवाली गेट पर खड़ा कर दिया। कोतवाली पहुंचे परिजन और व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने रोडवेज बस के कंडक्टर और ड्राइवर के खिलाफ कार्रवाई की बात कही और हंगामा काटने लगे। पुलिस ने दोनो तरफ़ से तहरीर देने की बात कह कर अपने ऊपर से बात को टाल दिया। वही कोतवाल सतेंद्र कुमार ने व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से एआरएम से बात कर मसले को समझाने की बात कही। पुलिस के आनाकानी करने पर हंगामा शुर हो गया। दो घण्टे तक कोतवाली में हाई बोल्टेज ड्रामा चलता रहा। कोतवाल सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कि, रोडवेज बस चालक और कंडक्टर के द्वारा सवारियों को हाईवे बाईपास पर उतार दिया गया था। सवारियों के स्वजन मौके पर पहुंच गए और रोडवेज बस को नगर के अंदर कोतवाली ले आए। दोनों ही पक्षों की बातों को ध्यान से सुना गया। दोनों पक्षों में समझौता हो गया। कंडक्टर के द्वारा अपनी गलती स्वीकार करने के बाद रोडवेज बस और उनकी सवारियों को गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया।

पुलिस से सवाल जबाब से उखड़े सीओ,मीडिया कर्मियों से हुई नोक झोंक

Milak30.फ़ोटो02. मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उखड़े सीओ ओमकार नाथ शर्मा

मिलक। संवाददाता

रोडवेज चालक और परिचालक की मनमानी के चलते हुए व्यापार मंडल व आम जनता की कोतवाली में नोकझोंक व हंगामे को लेकर जब पुलिस से लोगो आमजनता की सुरक्षा को लेकर सवाल जवाब किए तो सीओ भी आमजनता से उलझ गए।उन्होंने मीडिया कर्मियों को भी पार्टी ना बनने की नसीहत दे डाली।

मंगलवार को रोडवेज चालक और परिचालक की मनमानी के चलते कोतवाली में हाई वोल्टेज ड्रामा लगभग दो घंटे चला।इस दौरान पुलिस भी आमजनता की बात न सुनते हुए रोडवेज चालक और परिचालक की तरफदारी में जुट गयी।इसी बीच रोडवेज बसों के द्वारा बाईपास पर सवारियां उतारने को लेकर कंडक्टर से मीडिया कर्मी सवाल पूछने लगे।जिसका पुलिस ने विरोध किया। पुलिस दोनों में समझौते की बात कर रही है।लेकिन दोनो तरफ से किसी की तरफ से कोई समझोता नामा नहीं दिया गया है।

कोतवाल ने रोडवेज के मामले में इंटरफेयर करने से किया मना

मिलक।संवादाता

रोडवेज ओर आमजनता के बीच हुए हंगामे में कोतवाल ने आमजनता से मामले में साफ इंटरफेयर करने से मना करते हुए कहा कि आपका व्यापार मण्डल में दम है तो एआरएम से बात करो यह पुलिस का मामला नही है।जिसपर वहां मौजूद लोगों ने कहा कि एआरएम से कितनी मर्तबा शिकायत की गयीं है लेकिन वहां से कोई भी सहूलियत नगरवासियों को नही मिलीं।आरोप लगाया कि अग्रर रोडवेज परिचालकों की मनामानी के चलते अगर कोई झगड़ा होता है तो पुलिस उसमें खुस जाती है।तो इस तरह की बात कहना पुलिस प्रशासन की उदासीनता ओर लापरवाही को दर्शाता है।

epaper

संबंधित खबरें