Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश रामपुरबिलासपुर में मासूमों बच्चियों के गुप्तांगो के साथ छेड़खानी करने वाले शिक्षामित्र की कुटाई, पुलिस को सौंपा

बिलासपुर में मासूमों बच्चियों के गुप्तांगो के साथ छेड़खानी करने वाले शिक्षामित्र की कुटाई, पुलिस को सौंपा

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 11:20 PM
बिलासपुर में मासूमों बच्चियों के गुप्तांगो के साथ छेड़खानी करने वाले शिक्षामित्र की कुटाई, पुलिस को सौंपा

क्षेत्र के एक गांव के स्कूल में तैनात शिक्षामित्र ने गुरु-शिष्य के रिश्ते को शर्मसार कर दिया। शिक्षामित्र ने कक्षा तीन में पढ़ने वाली बच्चियों के साथ छेड़खानी की। मामले की जानकारी होने पर अभिभावक भड़क गए और उन्होंने शिक्षामित्र को स्कूल में ही जमकर पीटा और फिर पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

मामला रूद्र-बिलास चौकी क्षेत्र के एक गांव का है। गांव के प्राथमिक विद्यालय में गांव निवासी शिक्षामित्र भी तैनात है। दर्जनों महिलाएं हाथों में डंडे लेकर मंगलवार की दोपहर में विद्यालय में पहुंच गईं और शिक्षामित्र को घेर लिया। महिलाओं ने शिक्षामित्र पर स्कूल की बच्चियों के साथ छेड़खानी का आरोप लगाते हुए मारपीट शुरू कर दी। इससे हंगामा खड़ा हो गया। आसपास के लोग भी जुट गए। अभिभावकों की सूचना पाकर रूद्र-बिलास चौकी प्रभारी मनोज कुमार मौके पर पहुंच गए और शिक्षामित्र को हिरासत में ले लिया। इसके बाद उसे अपने साथ चौकी ले आए। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि शिक्षामित्र स्कूल में पढ़ने वाली पांच से दस वर्ष की मासूम बच्चियों को कमरें में ले जाकर उनके साथ छेड़खानी करता है। उसने अब तक कई बच्चों को अपना शिकार बनाया और घर बताने पर उनकी पिटाई करने की धमकियां देता था।

आरोप है कि शिक्षामित्र ने कक्षा तीन में पढ़ने वाली एक और छह वर्षीय मासूम के साथ छेड़खानी का प्रयास किया तो मासूम रोते-बिलखते घर भाग गई। उसने घर जाकर अपने परिजनों को आपबीती सुनाई और शिक्षामित्र की करतूतों से अवगत कराया। मासूम की बात सुनकर परिजन आगबबूला हो गए तथा सभी लोगों को इकट्टा करके अपने साथ स्कूल पहुंच गए। उधर, इस प्रकरण से सहमी हुई मासूम ने बताया कि शिक्षामित्र पहले भी उसके साथ की लड़कियों को डरा-धमका कर उनके साथ गन्दी-गन्दी हरकतें करता था। अभिभावकों ने पुलिस से क़ानूनी कार्रवाई की मांग की है। प्रभारी निरीक्षक तेजवीर सिंह का कहना कि आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कर्रवाई की जाएगी। बाकी पूछताछ की जा रही है।

शिक्षामित्र की हरकतों पर परिजन नहीं करते थे विश्वास

बिलासपुर। मौके पर मौजूद महिलाओं का कहना था कि आऱोपी शिक्षामित्र की हैवानियत के बारे में जब मासूम बच्चियां घर जाकर कहती थीं तो कोई भी उनकी शिकायत पर संज्ञान नही लेता था। उल्टा पढ़ाई के नाम पर बहाना बनाने के नाम डांट-डपटकर स्कूल भेज दिया जाता था। ऐसी कई शिकायत मासूम कर चुकीं थीं, लेकिन अभिभावक उन पर ध्यान देने के बजाय टालमटोल कर दिया करते थे। मगर जब एक मासूम घबराई हुई घर पहुंची और मां को लिपट कर रोई तो एकाएक वो जाग गए।

epaper

संबंधित खबरें