ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश रामपुरचुनाव कार्य से लौटने लगीं रोडवेज बसें, अब नहीं होगी परेशानी

चुनाव कार्य से लौटने लगीं रोडवेज बसें, अब नहीं होगी परेशानी

यात्रियों को अब धक्का-मुक्की नहीं करनी पड़ेगी। प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लोकसभा चुनाव करने गई रोडवेज बसें अब लौटने लगी हैं। इन बसों को निर्धारित...

चुनाव कार्य से लौटने लगीं रोडवेज बसें, अब नहीं होगी परेशानी
हिन्दुस्तान टीम,रामपुरTue, 28 May 2024 02:00 AM
ऐप पर पढ़ें

यात्रियों को अब धक्का-मुक्की नहीं करनी पड़ेगी। प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में लोकसभा चुनाव करने गई रोडवेज बसें अब लौटने लगी हैं। इन बसों को निर्धारित रूट पर भेजा जा रहा है। इससे अब बसों के इंतजार में यात्रियों को नहीं भटकना होगा। रामपुर जिले की 11 बसें वापस लौट आई है। यात्रियों को सहूलियत मिलेगी।
रामपुर डिपो में 75 रोडवेज बसें है। इनमे से पचास से अधिक बसों का संचालन होता है। बाकी बसें चालकों और परिचालकों की कमी के कारण डिपो में ही खड़ी रह जाती है। बसों का हल्द्वानी, हरिद्वार, लखनऊ, कानपुर, दिल्ली, मेरठ के साथ ही लोकल रूट मुरादाबाद और बरेली के बीच भी बसों का संचालन होता है। लेकिन, लोकसभा चुनाव को लेकर

चुनाव आयोग की तरफ से प्रदेश के अन्य जनपदों में हुए चुनाव में जिले से पुलिस और होमगार्ड के जवानों को लेकर डिपो की 35 बसें गैर जनपदों में गईं थी। इन बसों के चुनाव ड्यूटी में जाने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों की बस सेवा ठप कर दी गई थी। दिल्ली तक जाने के वाली बसों की संख्या भी डिपो की तरफ से कम कर दी गई थी। इसके चलते लोगों को अन्य डिपो की बसों से यात्रा करनी पड़ती थी। लोगों को यात्रा करने में परेशानी उठानी पड़ती थी। परिवार के साथ लखनऊ और दिल्ली जाने वाले लोगों को अधिक परेशानी उठानी पड़ती थी।

लेकिन, अब छठे चरण का चुनाव कराने के बाद रामपुर डिपो की 11 बसें लौट आई हैं। शेष बसें भी दो-तीन दिन में डिपो में आ जाएंगे। गैर जिलों से इन बसों के वापस आने से अब दिल्ली, मुरादाबाद और बरेली जाने वाले यात्रियों को यात्रा करने में सहूलियत होगी। इस संबंध में रामपुर डिपो के एआरएम दीप चंद जैन ने बताया कि सुरक्षा कर्मियों को लेकर गैर जिलों में गई 35 में से 11 बसें डिपो को मिल चुकी हैं। शेष चार बसें भी एक-दो दिन में आ जाएंगी। इन बसों को पूर्व में निर्धारित रूटों पर संचालित करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।