ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश रामपुरअवैध खनन में 26 पर रिपोर्ट, 15 गिरफ्तार

अवैध खनन में 26 पर रिपोर्ट, 15 गिरफ्तार

अवैध खनन पर डीएम-एसपी ने शिकंजा कस दिया है। जहां एक ओर जिलाधिकारी ने स्टोन क्रशरों-भंडारणों पर बालू के क्रय-विक्रय पर रोक लगाई है। वहीं, अवैध खनन...

अवैध खनन में 26 पर रिपोर्ट, 15 गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,रामपुरFri, 01 Dec 2023 12:15 AM
ऐप पर पढ़ें

अवैध खनन पर डीएम-एसपी ने शिकंजा कस दिया है। जहां एक ओर जिलाधिकारी ने स्टोन क्रशरों-भंडारणों पर बालू के क्रय-विक्रय पर रोक लगाई है। वहीं, अवैध खनन में अलग अलग थानों में 26 एफआईआर दर्ज की गई हैं। गुरुवार को इस संबंध में पुलिस अधीक्षक राजेश द्विवेदी ने कार्रवाई के आंकड़े जारी कर मीडिया केा ब्रीफ किया।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि रामपुर पुलिस द्वारा माह नवंबर में खनन माफियाओं द्वारा जनपदीय सीमा में किए जा रहे अवैध खनन की प्रभावी रोकथाम करते हुए खनन अधिनियम के अन्तर्गत 26 अभियोग पंजीकृत किए गए, जिनमें 15 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, अवैध खनन में संलिप्त 11 खनन माफियाओं के विरूद्ध उत्तर प्रदेश गिरोहबन्द और समाज विरोधी क्रिया कलाप निवारण अधिनियम के अन्तगर्त कार्रवाई करते हुए चार केस दर्ज किए गए हैं, जिनमें तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

खनन माफियाओं द्वारा जिन वाहनों से अवैध खनन किया जाता था उन पर भी रामपुर पुलिस द्वारा कड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध खनन का परिवहन करने वाले 33 वाहन सीज किये गये, 295 का चालान किया गया है तथा 6,95,000 रुपये का जुर्माना वसूला गया। उक्त पंजीकृत अभियोगों के नामित तथा प्रकाश में आये खनन माफियाओं द्वारा अवैध खनन से अर्जित की गयी चल अचल संपत्ति का पता किया जा रहा है जिसमें अवैध रूप से अर्जन की गई संपत्ति को गैंगस्टर एक्ट की धारा 14(1) की कार्रवाई करते हुए जब्त की जाएगी।

रामपुर पुलिस द्वारा उक्त गैंगस्टर एक्ट व अवैध खनन के पंजीकृत अभियोगों के गिरफ्तारी के लिए शेष अभियुक्तों की शीघ्र गिरफ्तारी के लिए टीमें बनाकर लगातार दबिश दी जा रही है। रामपुर पुलिस द्वारा अवैध खनन को लेकर पूर्व से ही कड़ी कार्रवाई की जाती रही है तथा भविष्य में भी अवैध खनन/परिवहन की सूचनाओं का संज्ञान लेकर खनन माफियाओं के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें