DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  रामपुर  ›  रामपुर में मेधावी छात्र हुए मायूस, तो आम छात्र-छात्राओं के चेहरे खिले
रामपुर

रामपुर में मेधावी छात्र हुए मायूस, तो आम छात्र-छात्राओं के चेहरे खिले

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरPublished By: Newswrap
Fri, 04 Jun 2021 11:50 AM
रामपुर में मेधावी छात्र हुए मायूस, तो आम छात्र-छात्राओं के चेहरे खिले

रामपुर। संवाददाता

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की इंटर की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। इससे जहां एक ओर बहुत से छात्रों में बिना परीक्षा पास होने की खुशी देखी जा रही है तो वहीं मेधावी छात्रों की मुश्किलें बढ़ गई है। इतना ही नहीं परीक्षा रद्द होने के निर्णय से वित्त विहीन स्कूल प्रबंधन की आर्थिक व्यवस्थाएं धराशाई हो गई है।

कोरोना महामारी के प्रकोप के चलते यूपी बोर्ड की ओर से पहले हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया गया था। गुरुवार को इंटर की भी परीक्षा रद्द कर दी गई। इस निर्णय के बाद इस बार जिले में एक भी छात्र फेल नहीं होंगे और शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम रहेगा। रिजल्ट उनकी छमाही व प्री-बोर्ड परीक्षा के प्राप्तांकों के आधार पर घोषित होने की अटकलें लगाई जा रही है। बोर्ड परीक्षा रद्द होने के निर्णय से मेधावी छात्रों के सामने मुसीबत खड़ी कर दी है। मेधावी छात्रों की माने तो इस बार सामूहिक रूप से रिजल्ट जारी होने की उम्मीद है। सहीं मूल्यांकन न हो पाएगा।

परीक्षा को लेकर क्या हैं छात्रों की राय

इससे सभी छात्रों के पास होने की पूरी संभावना है। लेकिन मेधावी छात्रों का सहीं मूल्यांकन नही हो पायेगा। स्कूल बंद होने के बावजूद बेहतर पढ़ाई करने के लिए पूरे वर्ष परिश्रम किया और अब परीक्षा रद्द कर दी गई है।

आकाश सैनी

परीक्षा की अच्छी तैयारी की थी। प्री-बोर्ड या पहले की परीक्षाओं में ज्यादा दिलचस्पी नहीं रहती इस कारण उन अंकों के आधार पर बोर्ड परीक्षा के अंक प्रभावित होंगे।

मिस्वाह

जिन परीक्षार्थियों ने पढाई नहीं कि है उनके लिए तो यह निर्णय सहीं है। पर जिन्होंने मेहनत किया है उनका मूल्यांकन ठीक से नहीं हो पाएगा।

विशाल कुमार

कोरोना संक्रमण के चलते पूरे साल पढ़ाई सही से नहीं हो पाई। इसलिए परीक्षा को लेकर चिंता हो रही थी। परीक्षा रद्द हो जाने से अपना मूल्यांकन नहीं कर पाऊंगा।

मोहम्मद अरीब खां

परीक्षा रद्द करने के निर्णय को लेकर जहां कोरोना का खतरा काफी हद तक चला है। वहीं, परीक्षा रद्द होने से परीक्षार्थी पास तो हो जाएगा।लेकिन अपना मूल्यांकन नहीं कर सकता।

अमन बाबू

बोर्ड ने परीक्षा रद कर दिया है। विद्यालय की ओर से ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही थी ।लेकिन, नेटवर्क की बदहाल स्थिति और संसाधन के अभाव में पढ़ाई बाधित रही। लेकिन,परीक्षा रद्द होने से उत्तीर्ण रिजल्ट आने की पूरी उम्मीद है।

आलिमा शरीफ

संबंधित खबरें