DA Image
28 अक्तूबर, 2020|6:20|IST

अगली स्टोरी

कुपोषित बच्चों के घर दीप जलाकर पोषण के प्रति किया जागरूक

कुपोषित बच्चों के घर दीप जलाकर पोषण के प्रति किया जागरूक

पोषण माह के तहत आंगनवाड़ी केंद्र एवं चिन्हित कुपोषित बच्चों के घरों में सुपोषण दीपक जलाकर उनके परिजनों को पोषण के बारे में जागरूक किया गया।

जिला कार्यक्त्रम अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि जनपद के आंगनबाड़ी केंद्रों के साथ-साथ डोर टू डोर सर्वे के दौरान भी लोगों के साथ मिलकर आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा कुपोषण से बचाव के लिए विभिन्न प्रकार के जागरूकता कार्यक्त्रम आयोजित किए जा रहे हैं। कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य की बेहतर देखभाल के लिए उनके माता-पिता का जागरूक होना बेहद जरूरी है इसलिए माता पिता को उनके खानपान में सुधार करने एवं गर्भवती महिला व बच्चों की नियमित रूप से देखभाल करने के लिए विभिन्न गतिविधियां आयोजित हो रही हैं।

कुपोषण का बच्चे के स्वास्थ्य पर जीवनपर्यंत दुष्प्रभाव बना रहता है जिसके कारण उसे भविष्य में शारीरिक, मानसिक एवं सामाजिक दृष्टिकोण से अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन समस्याओं से बचाव के लिए सबसे बेहतर उपाय यही है कि माता-पिता अपने बच्चे के खानपान में पोषण युक्त खाद्य पदार्थों को सम्मिलित करें।

महिला शक्ति केंद्र एवं चेतना सेवा संस्थान द्वारा आईसीडीएस के साथ मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के जागरूकता एवं प्रशिक्षण कार्यक्त्रम आयोजित किए जा रहे हैं जिसके तहत महिला कल्याण अधिकारी शाइस्ता बी एवं चेतना सेवा संस्थान की नवनीत कौर ने ग्राम खेमपुर में बच्चों, किशोरियों और महिलाओं के साथ चौपाल करके उनके साथ स्वास्थ्य एवं साफ सफाई से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Made awareness about nutrition by lighting lamp at the house of malnourished children