DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भगवान गणेश के पूजन के साथ रामलीला मंचन का शुभारंभ

आदर्श रामलीला मैदान में विधि-विधान से पूजा अर्चना के बाद रामलीला मंचन का उद्घाटन हुआ। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के जयकारों से वातावरण गूंज उठा। श्रीराम के आदर्शों से प्रेरणा लेकर अच्छाई के रास्ते पर चलने का आह्वान किया गया। सिविल लाइंस स्थित आदर्श रामलीला मैदान पर श्री हरि आदर्श रामलीला कमेटी की ओर से रविवार को देर रात रामलीला मंचन का विधि-विधान से शुभारंभ हुआ। कमेटी के पदाधिकारियोंे के साथ मुख्य यज्ञमान समाजसेवी और उद्यमी सुभाष नंदा ने पहले गणेश भगवान का पूजन किया। पूजन पंडित रामलखन मिश्रा ने संपन्न कराया। पूजा अर्चना के बाद भगवान श्रीराम के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित किया गया। विघ्न विनाशक भगवान गणेश और श्रीराम की आरती उतारी गई। मुख्य अतिथि ने नारियल फोड़कर रामलीला मंचन का शुभारंभ किया। इस दौरान कमेटी अध्यक्ष अध्यक्ष रामस्वरूप बांगा, भाजपा क्षेत्रीय महामंत्री सूर्य प्रकाश पाल, महामंत्री राकेश कुमार जुनेजा, सतीश चंद्र भाटिया, अनिल अरोड़ा, अनिल वशिष्ठ, शैलेंद्र शर्मा, धनंजय पाठक, राजेंद्र खत्री, पवन बांगा, राजेंद्र सिड़ाना, नवीन भाटिया, ओमप्रकाश मल्होत्रा, जगन्नाथ चावला, राकेश शर्मा, राजा भसीन, अजय अरोरा, राजेंद्र पाल, बादल खनेजा, सभासद गुलशन अरोरा, योगेंद्र चौहान, नीरज कुमार राठौर, कशमीर सिंह, प्रेमपाल, भारत भूषण गुप्ता, दीपक त्यागी आदि मौजूद रहे। .................................. नारद के श्राप से डगमगाया विष्णु का सिंहासन क्रासर आधी रात तक लिया रामलीला मंचन का आनंद कोसी मंदिर और सिविल लाइंस के रामलीला मंचन फोटो............ रामपुर। हिन्दुस्तान संवाद भगवान विष्णु ने नारद को वानर का रूप दे डाला। जिससे क्रोधित होकर नारद ने भगवान विष्णु को श्राप दे डाला। रावण ने तपस्या कर अजेय रहने का वरदान मांग लिया। रावण को आकाशवाणी के जरिए अपनी शक्तियों का दुरुपयोग न करने की चेतावनी दी गई। कुछ ऐसा ही दृश्य दिखाई दिया सिविल लाइंस और कोसी मार्ग पर रविवार को हुए रामलीला मंचन का। रुपहले परदों पर कलाकारों द्वारा की गई मोहक प्रस्तुति पर लोगों की भीड़ आधी रात तक रामलीला मंचन का आनंद लेती रही। .......... आकाशवाणी को धता बता रावण करने लगा अत्याचार कोसी मार्ग स्थित रामलीला मैदान में चल श्री सनातन धर्म रामलीला कमेटी की ओर से चल रहे मंचन में श्री गोविंद गोपाल लीला संस्थान वृंदावन के कलाकारों की प्रस्तुति पर दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए। नारद मोह, स्वायंभुवमनु तपस्या के बाद रावण का जन्म हुआ। रावण ने कठोर तपस्या कर अजेय रहने का वरदान मांग लिया। वरदान मिलने पर अभिमान से चूर रावण खुशी से प्रफुल्लित हो उठा। इसी बीच आकाशवाणी हुई कि हे रावण तुझे जो शक्ति दी गई हैं। उसका दुरुपयोग मत करना। अगर दुरुपयोग किया तो विनाश निश्चित है। रावण ने आकाशवाणी की परवाह न करते हुए मिली हुई शक्तियों से ऋषि और मुनियों को परेशान करना शुरू कर दिया। रविवार को मंचन का शुभारंभ अतिथियों सुनील कुमार अग्रवाल, संजय गुप्ता और राजेश्वरी देवी सक्सेना ने किया। लकी ड्रा निकालकर पांच विजेताओं को बाबा लक्ष्मण दास की समाधि कमेटी की ओर से पुरस्कार दिए गए। महामंत्री शिव हरि गर्ग, वीरेंद्र कुमार गर्ग, दिनेश कुमार अग्रवाल, विनोद कुमार गुप्ता, सुदर्शन कुमार गुप्ता, विष्णु सरन सर्राफ शांति सरन राठौर आदि मौजूद रहे। ............................................ नारद ने दिया भगवान विष्णु को श्राप, रावण का हुआ जन्म आदर्श रामलीला मैदान में श्रीहरि आदर्श रामलीला कमेटी की ओर से प्रारंभ हुए मंचन में गणेश स्तुति के बाद नारद मोह का मंचन किया गया। श्री बृज कृष्ण लीला रामलीला संस्थान वंृदावन के कलाकारों की प्रस्तुति पर दर्शक भावविभोर हो गए। भगवान विष्णु ने नारद ऋषि को बंदर का रूप दे दिया। जब इसका पता नारद को लगा तो उन्होंने भगवान विष्णु को श्राप दिया कि जिस तरह वह पत्नी वियोग में भटक रहा है एक दिन इसी तरह तुम भी एक दिन पत्नी के वियोग में तड़फोके। उस समय यही बंदर तुम्हारी मद्द करेंगे। ................ राजा कंस के अत्याचारों से भयभीत हुए मथुरा वासी रामपुर। कोसी मार्ग स्थित रामलीला मैदान में चल रही रास लीला का रविवार को अध्यक्ष नवल किशोर खंडेलवाल, प्रधानमंत्री शिव हरि गर्ग, मंत्री वीरेंद्र गर्ग और सोनी ताऊ ने भगवान का श्रृंगार कर तिलक लगाया। कलाकारों ने कृष्ण जन्म की लीला का मंचन किया। कंस ने अपने माता पिता को भी कारागार में डाल दिया। बहन देवकी का विवाह वासुदेव के साथ कर दिया। आकाशवाणी हुई कि कंस वासुदेव देवकी की आठवीं संतान तेरा काल होगा। भयभीत कंस ने वासुदेव देवकी को कारागार में डाल दिया। सुभाष ठेकेदार, ईश्वर सरन, दिनेश कुमार अग्रवाल, श्याम कृष्ण शर्मा, मनोज अग्रवाल, अनिल चौरसिया आदि मौजूद रहे। ...................... रामलीला मंचन में आज के प्रसंग ......कोसी मार्ग पर पृथ्वी पुकार, श्रीराम जन्म,जानकी जन्म का मंचन। सुबह को रासलीला का मंचन। ........सिविल लाइंस स्थित आदर्श रामलीला मैदान में स्वायंभुवमनु तपस्या, रावण तपस्या,मेघनाथ दिग्विजय, पृथ्वी पुकार और राम जन्म का मंचन।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Launch of Ramlila stage with the worship of Lord Ganesha