DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश रामपुरधान खरीद में बिचौलिए बने कई-कई गांवों के जमींदार

धान खरीद में बिचौलिए बने कई-कई गांवों के जमींदार

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 11:00 PM
धान खरीद में बिचौलिए बने कई-कई गांवों के जमींदार

उत्तर प्रदेश खाद्य एवं रसद विभाग का पोर्टल गवाही दे रहा है कि भूमिहीन भी कई-कई गांवों के बड़े काश्तकार बन गए। राजस्व विभाग ने भी अपनी मुहर लगा दी। धान खरीद में फर्जीवाड़े का यह खेल सबसे ज्यादा शाहबाद क्षेत्र में खेला जा रहा है। कई मामले पकड़ में आ चुके है।

धान खरीद में फर्जीबाड़े ने तो सरकार का उद्देश्य ही बदल दिया। न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का लाभ मिलना चाहिए किसानों और मालामाल हो रहे बिचौलिए। खाद्य एवं रसद विभाग के पोर्टल के आंकड़ों के आधार पर उदाहरण पेश है। शाहबाद क्षेत्र के मथुरापुर निवासी ऊदल पुत्र नत्थू ने गांव के भूपसिंह, ऊदल पुत्र गिरधारी, चिरंजी, नानकार के राम सिंह, निरंजन सिंह, उग्रसेन, राजवती, विद्याराम, राजाराम, होरी लाल, ठिरिया के ऊदल पुत्र गोपाल, सूरजपुर के सुक्खन, लाखन, रमेश ऊदल सिंह पुत्र लालमन, सोहना के उदल सिंह पत्र रामदास और राममूर्ति की तीन हैक्टेअर यानी 50 बीघा जमीन को अपना बताकर पंजीकरण कराया। राजस्व विभाग से सत्यापन की मुहर लगाने के बाद ऊदल ने अपने नाम से टांडा में पीसीएफ के साधन सहकारी समिति लखमन नगला क्रय केंद्र पर 10 नवंबर को 166 कुंतल धान तुलवा दिया। इसी तरह नदीम पुत्र पप्पू नाम के अनजान शख्स ने नदना गांव के 16 किसानों की जमीन को अपना बताकर पंजीकरण कराया। राजस्व विभाग से धान की मात्रा सत्यापित होने के बाद तीन नवंबर को खाद्य विभाग के आगापुर क्रय केंद्र पर अपने नाम से 134 कुंतल धान तुलवा दिया। मामले की शिकायत मिलने पर जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने जांच बैठा दी है। इस तरह के और भी तमाम मामले पकड़ में आ चुके हैं।

-----

विशाल का सगा भाई बना फरजन

रामपुर। पॉस मशीन पर अंगूठा लगाने को बिचौलिए रिश्ते बदल रहे हैं। नदनऊ निवासी विशाल दुबे ने फरजन अहमद के हाथ 1350 रुपये कुंतल में अपना धान बेचा था। किसान पंजीकरण में विशाल दुबे को नामिनी के तौर पर फरजन ने खुद को विशाल दुबे का सगा भाई दर्शा दिया। इसके बाद फरजन ने पॉस मशीन पर अंगूठा लगाकर खाद्य विभाग के आगापुर क्रय केंद्र पर अपना धान तुलवा दिया। यह मामला भी जिला खाद्य विभाग अधिकारी के पास पहुंच गया है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें