DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › रामपुर › रामपुर में हुए धान खरीद घोटाले की शासन करा रहा है जांच
रामपुर

रामपुर में हुए धान खरीद घोटाले की शासन करा रहा है जांच

हिन्दुस्तान टीम,रामपुरPublished By: Newswrap
Thu, 05 Aug 2021 11:31 PM
रामपुर में हुए धान खरीद घोटाले की शासन करा रहा है जांच

गुरुवार को दिल्ली में भाकियू नेता राकेश टिकैत ने प्रेस कांफ्रेंस में धान खरीद घोटाले का मुद्दा उठाते हुए रामपुर का जिक्र किया। बेशक, उन्होंने इस मामले को देर से उठाया लेकिन, उनके आरोपों में दम है। पूर्व में रामपुर में समय-समय पर आरटीआई के तहत मांगी गई सूचनाओं में घोटाले का न सिर्फ खुलासा हो चुका है बल्कि, शासन ने इस मामले में जांच भी बैठा रखी है।

मई माह में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के रुहेलखंड प्रांत संयोजक फैसल मुमताज़ ने किसानों के हितों से संबंधित धान खरीद घोटाले में प्रशासनिक स्तर पर जांच कराकर दोषी व्यक्ति एवं सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए मुख्यमंत्री से शिकायत की थी। जिस मुख्यमंत्री कार्यालय के विशेष सचिव अमित सिंह ने अपर मुख्य सचिव कृषि विपणन एवं विदेश व्यापार को जांच कर कार्रवाई के लिए आदेश दिए थे। जिसकी जांच वर्तमान में जारी है।

पांच केंद्र प्रभारियों पर गिर चुकी है गाज

बीते वर्ष भारतीय किसान यूनियन टिकैत के जिलाध्यक्ष हसीब अहमद ने जिला खाद्य विपणन अधिकारी से मुलाकात कर आरोप लगाया था कि जिले में धान खरीद में बड़े पैमाने पर घोटाला किया गया है। किसानों के नाम पर बिचौलियों का धान खरीदा गया। जिस पर जांच हुई तो पीसीयू के कई केंद्रों की जांच में घपला पकड़ में आ गया। जिस पर पीसीयू के सिसौना केंद्र प्रभारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई। इतना ही नहीं तब पीसीयू के नवीन मंडी टांडा, पिपलिया जट, कनकपुर,जालपुर और पीसीएफ के पेमपुर केंद्र के प्रबंधक को भी बर्खास्त कर दिया गया था।

हिन्दुस्तान ने उठाया था मुद्दा

धान खरीद में बड़े पैमाने पर घोटाले का खुलासा हिन्दुस्तान ने किया था। शुरुआती दौर में अफसर इसे नकारते रहे लेकिन जब जांच बैठाई गई तो घपले की परतें दर परतें खुलने लगीं। इसके बाद अफसरों ने हिन्दुस्तान की खबर पर मुहर लगाई।

कोठियों में दर्शायी गई धान की फसल

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के रोहेलखंड प्रांत संयोजक फैसल मुमताज ने पूर्व में जो शिकायत की थी, उसमें साक्ष्यों के साथ आरोप लगाया गया था कि कोठियों में धान की फसल दर्शायी गई है। आरोप था कि उत्तर प्रदेश सहकारी यूनियन के चिकटी रामनगर तहसील सदर के धान क्रय केंद्र पर शादीनगर पट्टी निवासी शशि कपरू द्वारा नगर क्षेत्र जौहर अली रोड, सीडीओ आवास के सामने स्थित कालोनी में भूमि खाता संख्या 00105, 00078, 00080 एवं 00120 में बने शहर के प्रसिद्ध व्यक्तियों के आवासों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों का रकबा दर्शाकर खरीफ विपणन 2020-21 में धान खरीद करायी गई। जिनकी ये कोठियां हैं, उनमें एक पत्रकार के साथ ही जिपं के पूर्व अध्यक्ष, कांग्रेस के पूर्व विधायक एवं उनके परिवार, शहर के मशहूर डाक्टर, उद्योगपतियों के नाम शामिल हैं।

बोले अधिकारी

-इस बार खरीददारी पूरी ईमानदारी के साथ हुई है। पूर्व में जो घपले आदि हुए, उनमें कार्रवाई हो चुकी है। वर्तमान में शासन स्तर से कोई जांच चल रही है तो उसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है।

-अनुपम निगम, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी

संबंधित खबरें